जब मोस्ट वांटेड आरोपी को पकड़ने के लिए पुलिस ने पहना धोती

मुंबई के गोवंडी में रहने वाली महिला के घर में किराये पर रहने के बाद उसके साथ लगभग साढ़े 23 लाख 40 हजार रूपए की ठगी कर सात वर्षो से फरार मोस्ट वांटेड आरोपी को देवनार पुलिस ने सांगली से गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी को पकड़ने के लिए पुलिस को कपड़ा बदलकर तीन दिन तक सांगली में डेरा जमा कर बैठे रहना पड़ा।

देवनार पुलिस स्टेशन के वरिष्ट पुलिस निरीक्षक दतात्रे शिंदे ने दिए जानकारी अनुसार गिरफ्तार आरोपी का नाम अमोल रावसाहेब घेरावे है। मूल रूप से सांगली का रहने वाला है। अमोल वर्ष 2006 से 2008 तक देवनार में किराये के मकान में रहता था। इस बीच उसने मकान मालकिन महिला को बताया की वह मैकेनिकल पार्टस का व्यवसाय शुरू कर रहा है। इसमें अगर आप निवेश करती है तो आप को घर बैठे महीने में लाखों कमा सकती हैं। इसके लिए उन्हें पहले उन्हें कुछ निवेश करना होगा। जिसके बाद महिला उसकी बातों में आ गई और देखते ही देखते आरोपी ने उनसे इन्वेस्टमेंट के नाम पर 23 लाख 40 हजार ठग लिए । जैसे ही उसके पास पैसे आए वो लापत हो गया।

इस के बाद महिला आरोपी को ढूंढ़ती रहीं मगर उसका कहीं कोई अत पता नहीं चल पाया। जिसके बाद उन्होंने इसकी शिकायत देवनार पुलिस स्टेशन में कर दी। इसके बाद पुलिस भी उसे तलाशती रही लेकिन उसका सुराग नहीं मिल पाया। इसी बीच पुलिस को आरोपी से जुड़ा अहम सुराग मिला। पता चला की पिछले कई सालों से आरोपी महाराष्ट्र के सांगली ज़िले में है।

आरोपी को पकड़ने के लिए पुलिस ने बदला भेष 

आरोपी अमोल को पकड़ने के लिए वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक दत्तात्रेय शिंदे ने एक विशेष टीम बनाई। पुलिस उपनिरीक्षक प्रदीप भीताडे सहित ए एसआई मेघवले,दगडू कदम ,जाधव, आवारे ,वायदंडे  की टीम बनाकर 13 अगस्त को सांगली भेजा। लेकिन इससे पहले की टीम वहां पहुँच पाती आरोपी वहां से भी भाग गया। लेकिन खबरीयों से जानकारी मिली की वो वापस ज़रूर आएगा, मगर पुलिस को भी काफी चौकन्ना रहने की ज़रुरत है। क्यूंकि पूरे इलाके में आरोपी अमोल ने भी कई खबरी पाल रखें जो उससे जुडी हर जानकारी उस तक पहुंचाते हैं।

इसके बाद मुंबई पुलिस ने अपना प्लान और हुलिए दोनों बदल कर आरोपी को दबोचने की पूरी प्लैनिंग की। टीम के सदस्यों ने अपने अपने हुलिए बदले और फिर शहर में कोई धोती कपड़ा पहनकर पेरू का धंधा करने लगा तो कोई चाय के दूकान खोलकर बैठ गया। पुलिस टीम इसी तरह तीन दिनों तक वेश भूषा बदलकर बैठे रहे। आरोपी को जैसे ही पुलिस के वापस लौटने की खबर मिली वो वापस सांगली आया जिसके बाद उसे घर से ही दबोच लिया गया। मुंबई पुलिस ने आरोपी को अदालत में पेश किया है जिसके बाद उसे 20 अगस्त तक पुलिस हिरासत में भेज दिया गया है।


Close Bitnami banner
Bitnami