पेपर पर बना बैंक लूट का ब्लू प्रिंट,हाई टेक मजदूरों ने खोद डाली लम्बी सुरंग

क्या कभी आपने सुना है किसी ने लूट को अंजाम देने से पहले कई दिनों तक रिसर्च किया जाए और फिर उसे अंजाम तक पहुंचने के लिए पेपर पर बजाप्ता ब्लूप्रिंट तैयार किया गया हो। मतलब कितनी लम्बी सुरंग खुदे गी कितने लोग उसे खोदेंगे और कितने देर के अंदर इस लूट को अंजाम देकर फरार हो जाना है। सुनंने में ये सब एक फ़िल्मी स्क्रिप्ट सा लगेगा लेकिन नवी मुंबई के जुई नगर के जिस बैंक ऑफ़ बड़ोदा में लूट को अंजाम दिया गया था। उसे लूटने के पहले एक फूल प्रूफ प्लानिंग की गयी थी। इसका खुलासा तब हुआ जब पुलिस ने सुरंग खोदने वाले चार लोग और एक जोहरी को गिरफ्तार किया। मगर इस लूट को अंजाम देने वाले आठ लोग उनकी गिरफ्त से बाहर है।

ये भी पढ़ें :

सामने आया नवी मुंबई बैंक ऑफ़ बरोड़ा लूट का सीसीटीवी फुटेज

लूट की तफ्तीश कर रही पुलिस को ये जानकारी मिली थी की लूट में जिस सुरंग का इस्तेमाल किया गया है। उसे बेहद हाई टेक तरीके से खोदा गया था। इस सुरंग को तैयार करने वाले लोग इसी तरह का काम करते हैं। जिसके बाद नवी मुंबई क्राइम ब्रांच ने इस मामले में इससे पहले श्रावण हेगड़े,अंजन महांति, मोमिन खान और हाजिद अलील को गिरफ्तार किया था। गिरफ्तार सभी आरोपी ड्रिलिंग और टनल का काम करते हैं।

ये भी पढ़ें :

नवी मुंबई:मुंबई में बैंक ऑफ बड़ौदा में सुरंग बनाकर तोड़ दिए 27 लॉकर करोड़ों के गहने चोरी की आशंका

पूछताछ में इन चारों ने बताया की डकैती से पहले बनाये गए अंडर ग्राउंड रास्ता के खुदाई के दौरान निकले मिट्टी फेंकने का काम किया था। इसके बदले उन्हें 10 लाख रुपये का किमती जेवरात दिया गया था। जांच में आरोपियों ने पुलिस को बताया की यह सब जेवरात मनमाड के संजय वाघ को बेचा है। इसके बाद पुलिस ने संजय वाघ को गिरफ्तार कर उसके पास से 10 लाख रुपये किमती जेवरात भी बरामद किए है। इसके अलावा पुलिस इस गिरोह के नालासोपारा का रहने वाला दीपक मिश्रा उर्फ टेंगुर(30),सूरज(22),भट्या(22) मोइनुद्दीन शेख(38) ,सांताक्रुज का रहने वाला डांगर(40) और कल्पेश(40) अन्य एक 21 वर्षीय युवक इस तरह आठ लोगों का नाम सामने आया है। इसके अलावा अन्य कई लोगो के समावेश होने की संभावना जताई जा रही है।


Close Bitnami banner
Bitnami