कांस्टेबल की हिम्मत और एक महिला यात्री की सूझबूझ ने बचाई एक महिला की जान

मुंबई के कंजुर्गमार्ग रेलवे स्टेशन पर एक आरपीएफ कांस्टेबल की हिम्मत और लोकल में सफर कर रही एक महिला की सूझबूझ ने एक बार फिर एक ज़िन्दगी को ट्रेन के नीचे कुचलने से बचा लिया है. कॉन्स्टेबल की जांबाज़ी की ये पूरी घटन स्टेशन पर लगे CCTV में क़ैद हो गयी है. जिसमे साफ़ दिखाई दे रहा है की कैसे महिला को बचाने के लिए आरपीएफ कांस्टेबल ने अपनी जान की बाज़ी लगा दी थी. वक़्त रहते वहां मौजूद बाकी लोगों ने भी हिम्मत दिखाई और इससे पहले की वो ट्रेन के साथ खींचती चली जाती उसे बाहर निकाल लिया.

वारदात कांजुरमार्ग स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर दो पर करीब 3 बजकर 20 मिनट पर हुआ था. महिला की शिनाख्त पूनम के तौर पर हुई है जबकि उसे बचाने वाले दोनों महिला कांस्टेबल राज कमल और कांस्टेबल सुमित कुमार हैं.

जो वीडियो सामने आया है उसमे भी दिखाई दे रहा है की पूनम नाम की महिला दोपहर 3 बजकर 20 मिनट पर कंजुर्गमार्ग रेलवे स्टेशन पर फर्स्ट क्लास के डब्बे से उतरती है तभी ये हादसा हुआ है.

वीडियो में दिखाई दे रहा ही की कांस्टेबल सुमित और राज कमल पहले से ही महिला डब्बे के ठीक पीछे वाले डब्बे के पास खड़े है. सभी यात्री उतर जाते हैं और धीरे धीर प्लेटफार्म 2 पर खड़ी सीएसएमटी जाने वाली लोकल बढ़ने लगती है. इसी बीच फर्स्ट क्लास के डब्बे से पूनम नाम की महिला उतरने की कोशिश करती है लेकिन उसके ध्यान नहीं रहा की उसकी साडी का पल्लू ट्रेन के दरवाजा में फंस गया है. इस बीच ट्रेन रफ़्तार पकड़कर बढ़ने लगती है और महिला उसके साथ खींचती चली जाती है.

तभी कॉन्स्टेबल की उसपर नज़र पड़ी और उसने चलती ट्रेन से महिला को बचाने की लिए छलांग लगा दी. वो काफी दूर तक महिला को खींचने की कोशिश करता है और खुद भी लड़खड़ा कर गिर जाता है. इस बीच महिला डब्बे में तैनात कांस्टेबल पूरी ताक़त के साथ महिला की साडी को फाड़ कर अलग कर देती है जिससे प्लेटफार्म पर खड़े लोगों को महिला को बहार खींचने का मौका मिल जाता है.

महिला और कांस्टेबल सुमित दोनों को काफी चोटें आयीं और उन्हें राजावाड़ी अस्पताल में भर्ती कराया गया है. लेकिन एक बार फिर इस घटना ने ये साबित कर दिया की ज़रा से लापरवाही आपके लिए जानलेवा बन सकती है.


Close Bitnami banner
Bitnami