आरटीआई के नाम पर हफ्ता वसूली वाला डॉक्टर गिरफ्तार

पालघर क्राइम ब्रांच बिल्डरों से लाखों की फिरौती मांगने और ब्लैकमेल करने वाले डॉक्टर को गाजियाबाद से गिरफ्तार कर लिया है। आरोप है की डॉक्टरी की आड़ में डॉक्टर अनिल यादव आरटीआई निकलता था और फिर लोगों से लाखो रुपयों की वसूली करता था। डॉक्टर ने इसके लिए पूरा गिरोह बना रखा था जिनका काम था ऐसे लोगों की जानकारी जुटाना जो व्यवसाय हों और जिनसे लाखों रूपये वसूले जा सकें।

सुचना के अधिकार के नाम पर डॉक्टर चला रहा था हफ्ता वसूली का गैंग।​

वसई जिला परिषद के पूर्व स्वास्थ्य अधिकारी डॉक्टर अनिल यादव को पुलिस ने गाज़ियाबाद से गिरफ्तार किया है। उसका एक साथ कुछ दिन पहले ही एक बिल्डर से 25 लाख रूपये लेते हुए रेंज हाँथ पकड़ा गया था। पूछताछ में उसने खुलासा किया डॉक्टर यादव इलाके में बन रही सभी इमारतों के बारे में आरटीआई के जरिए जानकारी हासिल करता था। इसके बाद जहां भी अवैध निर्माण या नियमों के उल्लंघन की बात पता चलती थी उसके लोग वहां पहुँचते थे और शिकायत के नाम पर डरा धमकाकर अवैध वसूली करता था। डॉक्टर यादव के गिरोह में आठ लोग थे जिन्हें बाकायदा सैलरी मिलती थी।

उसने ये भी बताया है कई बार डॉक्टर के इशारे पर लोगों को बंदूक की नोक पर भी धमकाते थे और पैसे वसूलते थे ।

 


Close Bitnami banner
Bitnami