SPECIAL: वडाला के खाड़ी में क्राइम ब्रांच तलाश रही है कीर्ति की लाश

पूरे 50 दिन बाद कीर्ति व्यास के क़त्ल की गुत्थी सुलझाने के बाद मुंबई क्राइम ब्रांच के लिए अब सबसे बड़ी चुनौती है उसकी लाश को तलाशना. गिरफ्तार आरोपियों ने क्राइम ब्रांच को वो जगह दिखा दी है जहाँ उन्होंने कीर्ति शव को फेंका था. इस मामले में गिरफ्तार आरोपी सिद्धेश ताम्हाणकर और खुशी सजवानी ने पुलिस को बताया है की कीर्ति की हत्या कार में करने के बाद दोनों साथ में शव लेकर वडाला आई मैक्स थियेटर पहुंचे और उसके पीछे की झाड़ियों वाले नाले में उसे फ़ेंक कर फरार हो गए.

मामले की जांच कर रही मुंबई क्राइम ब्रांच की टीम को दोनों पर शक तब हुआ जब सिद्धेश ताम्हाणकर और खुशी सजवानी का मोबाईल लोकेशन एक साथ 16 मार्च को वडाला इलाके में था. इतना ही नहीं जिस दिन कीर्ति लापता हुई थी उस रोज़ भी दोनों का मोबाईल लोकेशन करीब 40 मिनट तक कीर्ति के घर के आस पास ही था. लेकिन दोनों ने कीर्ति को उस वक़्त न तो कॉल किया और न ही sms. जब 8 .50 पर कीर्ति जैसे ही अपने घर से निकली दोनों ने उसे लिफ़ ऑफर किया. उस वक़्त ख़ुशी कार चला रही थी जबकि सिद्धेश पीछे बैठा था.

सिद्धेश ने गला दबाया

कीर्ति जैसे ही कार में बैठकर जाने लगी पीछे से सिद्धेश ने ख़ुशी के दुपट्टे से उसका गला दबा डाला. वो नीचे फर्श पर गिर गयी थी और इस बीच कीर्ति के मुँह से खून भी आया. जो कार के फर्श पर ही गिर गया था. इस बीच मोहम्मद अली रोड से ग्रांट रोड तक ख़ुशी ही गाडी चला रही थी. इसके बाद दोनों ने कार की डिक्की में ही शव को छुपा दिया और दोनों ने काम पर निकल गए ताकि किसी को उनपर शक न हो. पूरे दिन एक डेड बॉडी के साथ कार ख़ुशी के गैरेज में ही लगी रही.

सिद्धेश ने वडाला खाड़ी में शव फेकने की प्लैनिंग की

क्राइम ब्रांच अधिकारियों के मुताबिक इस बीच ख़ुशी और सिद्धेश Whats app पर चैट करते रहे. दोनों ने तय किया की ऑफिस से लौटकर वो गाडी लेकर वडाला जाएंगे और वहीँ शव फेक देंगे. शाम होते ही दोनों वापस आये और कार लेकर वडाला की तरफ निकल गए. वहीँ दोनों ने शव को मैन्ग्रोवेस के बीच फेंका और अपने अपने घर निकल गए.


Close Bitnami banner
Bitnami