शर्मसार हुई सरकार विधायक निवास में सामूहिक बलात्कार

महाराष्ट्र के नागपुर में विधायक आवास में एक नाबालिक लड़की से बलात्कार करने का मामला सामने आया है। इस मामले में पुलिस ने पीड़िता के शिकायत पर आरोपी रजत तेजलाल मद्रे (19) मनोज विनोद भगत (44) और राजेन्द्र को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपियों को अदालत ने सभी आरोपियों को 24 अप्रैल तक पुलिस रिमांड पर भेज दिया है।

पुलिस के मुताबिक, पीड़िता को आरोपी मनोज परिवार के साथ भोपाल घुमाने ले जाने के बहाने बुलाया था। लेकिन यहाँ पहुँचते ही आरोपी ने उसके साथ विधायक निवास की पार्किंग में खड़ी करने के बाद पहली बार कार में बलातकार किया। उसके बाद उसे विधायक निवास की तीसरी मंजिल पर कमरा नंबर 320 में रखा गया और उसका बाद सभी आरोपियों ने बारी बारी से उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म किया गया।

आरोपी मनोज भगत की सोने चांदी की दुकान है।इस दुकान में पीड़ित लड़की काम करती है। मनोज ने पीड़िता के परिवार के साथ पारिवारिक सम्बन्ध होने का नाजायज़ फायदा उठाया था। 13 अप्रैल को मनोज भगत पीड़िता के घर गया। उसने उसकी मां से इस बात की इजाज़त मांगी की चुकी पीड़िता भी उसके परिवार का हिस्सा है तो अपने परिवार के साथ उसे भी भोपाल ले जाना चाहता है। मां ने उसे जाने की अनुमति दे दी, जिसके बाद वो उसे सीधे लेकर विधायक निवास पहुंचा और उसके साथ बलात्कार किया। इसके बाद उसके दोस्त भी इसमें शामिल हो गए

उसके बाद आरोपी ने पीड़िता को डरा धमकाकर 16 अप्रैल को उसके घर के पास सुबह करीब 9 बजे छोड़ दिया। मनोज 17 अप्रैल को किशोरी के घर दोपहर 12 बजे शराब के नशे में पहुंचा और किशोरी की मां को धमकाते हुए साड़ी घटना की जानकारी दे दी। साथ हे येभी कहा की अगर वो पुलिस के पास शिकायत लेकर गए थे वो अपनी जान से हाँथ धो बैठेंगे।

मनोज के जाने के बाद किशोरी घर से अचानक गायब हो गई। तब जाकर मामला पुलिस के सामने आया और आरोपियों की गिरफ़्तारी हुई। वही राज्य महिला आयोग ने इस मामले में दखल देते हुए जांच की मांग की है।

 


Close Bitnami banner
Bitnami