SHOCKING: बाप ने दिया प्यार में धोखा, तो मासूम को मौत के घाट उतारा

नालासोपारा तुलींज पुलिस स्टेशन क्षेत्र के विजय नगर इलाके से शनिवार की रात 5 साल की बच्ची का अपहरण कर उसकी हत्या की गुत्थी सुलझा ली है।पुलिस ने वारदात का खुलासा करते हुए मृत बच्ची के पिता की प्रेमिका को गिरफ्तार कर लिया है। मामले में चौकानें वाली बात यह है कि जिस कातिल को पकड़ने के लिए पालघर पुलिस की छह टीमें नालासोपारा से नवसारी तक खाक छान रही थी। वह कातिल मृतका के घर से महज कुछ ही दूरी पर अपने घर में सुकून से बैठी हुई थी।

गौरतलब है कि नालासोपारा पूर्व के विजय नगर स्थित साई अपर्णा अपार्टमेंट निवासी कुमारी अंजली संतोष सरोज (5) अपने पिता संतोष सरोज(28) , (दादा) भालचन्द्र सरोज व दादी लाली सरोज के साथ रहती थी। अंजली की माँ दो साल से अपने मूल गांव उतरप्रदेश में अपने छोटे बेटे विनय (2) के साथ रहती है। पिता का क्षेत्र में सब्जी विक्री का व्यवसाय है। शनिवार की रात 8 बजे अंजली के दादा- दादी कमरे थे। वह घर के बाहर पड़ोस के बच्चों के साथ खेल रही थी। उसी वक्त एक अज्ञात महिला आई और बच्चों को चॉकलेट देकर अंजली का अपहरण कर लिया। जब काफी देर तक अंजली घर नहीं आई तो परिजनों ने आसपास क्षेत्र में उसकी तलाश शुरू की, लेकिन कहीं भी उसका पता नहीं चला, जिसके बाद देर रात तुलींज पुलिस स्टेशन में उसके अपहरण की रिपोर्ट दर्ज कराई गयी। अपहरणकर्ता महिला बच्ची को विजयनगर से नागिनदास पाडा तक पैदल ही ले गयी। यह पूरी वारदात वहां लगे सीसीटीवी में कैद हुई है। पुलिस धारा 363 के तहत मामला दर्ज कर जाँच में जुटी थी।

Related image

पुलिस ने किया पुलिस को गुमराह:

वारदात में बाद आश्चर्य जनक पहलू यह भी रहा कि जिस मासूम की हत्या हुई उसके पिता ने ही आरोपी युवती अनीता बाघेला (24) को पहचानने से इंकार करता रहा। दरअसल मृतक बच्ची के घर के आसपास से पुलिस को सीसीटीवी फुटेज मिला था, जिसमे अंजली को ले जाते हुए एक महिला दिखाई दे रही है। वह महिला कोई और नही बल्कि अंजली के पिता की प्रेमिका थी। संतोष को डर था कि कहीं आरोपी महिला की पहचान कर लेने पर उसके प्रेम प्रसंग की पोल न खुल जाय।

बदला लेने के लिए रची साजिश:

नालासोपारा पूर्व नागिनदास पाडा की रहने वाली अनीता बाघेला नामक युवती के साथ छह साल पूर्व अंजली के पिता संतोष की दोस्ती हुई थी। उस वक्त सन्तोष ने बाघेला को बताया कि वह कुंवारा है।इसके बाद दोनों में प्रेम संबंध हो गए। पिछले सालों में दोनों के बीच शारारिक सम्बंध हुए जिसमे वह दो बार गर्भवती हुई, लेकिन संतोष ने उसका अबॉर्शन करा दिया था। जब युवती ने शादी की बात कही तो संतोष मुकरने लगा, इस बीच संतोष के घर में विवाद शुरू हो गया और संतोष ने अपनी पत्नी को उतरप्रदेश अपने मूल गांव भेज दिया। हालांकि इन दिनों संतोष ने युवती से दूरी बना ली थी। दूसरी ओर शादी न होने से नाराज युवती ने संतोष से बदला लेने की साजिश रची और इसी साजिश के तहत उसने अंजली का अपहरण कर उसकी हत्या कर दी।


Close Bitnami banner
Bitnami