सोलह साल की नाबालिग का अपहरण के बाद बलात्कार फिर हत्या कर लाश फेंका

महाराष्ट्र के औरंगाबाद से बेहद दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है। जहाँ पहले एक सोलह साल की लड़की का अपहरण कर बलत्कार किया गया और फिर उसकी हत्या कर लाश खाई में फेंक दी गयी। पुलिस ने लाश बरामद का पूरे मामले की जांच शुरू कर दी है। वहीँ इस वारदात से आक्रोशित पीड़िता के परिजनों ने शव लेने से इंकार कर दोषियों की गिरफ्तारी के लिए आंदोलन शुरू कर दिया है। परिवार पिछले 24 घंटे से सड़क पर बैठा है।
जानकारी के दसवीं में पढ़ने वाली पीड़िता औरंगाबाद के हनुमंत खेड़ा गांव की रहने वाली है। दो दिन पहले वो खेत के कुएं से पानी लाने के लिए निकली थी लेकिन लौटकर नहीं आई। जिसके बाद परिवार और गांव के लोगों ने उसकी बहुत तलाश की लेकिन कोई अता पता नहीं चल पाया था। जिसके बाद पीड़िता के पिता ने स्थानीय बनोटी थाने में अपनी बेटी के गुमशुदगी की शिकायत भी दर्ज कराई थी। लेकिन इससे पहले की पुलिस लड़की को ढूंढ पाती उसका शव बरामद हुआ है। प्रथम दृष्टया में ही पीड़िता से के साथ दुराचार साफ़ दिखाई दे रहा है। आरोपियों ने उस नाबलिग की लाश को घाटनांद्र घाट में फेक दिया था।
परिवार का आरोप है कि, पुलिस ने मामले में गंभीरता दिखाई होती तो शायद उनकी बेटी बच जाती। लेकिन बार बार कहने के बाद भी पुलिस ने मामले कि गंभीरता को नहीं समझा और नतीजा सामने है।  अब जब तक पुलिस उनके बेटी के क़ातिलों को पकड़ नहीं लेती वो उसका शव नहीं लेंगे। पीड़ित परिवार के साथ साथ पूरा गांव सड़क पर उतर आया है।  वहीँ वारदात के कई घंटे बाद भी पुलिस के हाँथ खाली हैं।

Close Bitnami banner
Bitnami