मुंबई पुलिस ने शुरू की वांटेड अपराधियों की धर पकड़, कमिश्नर के आदेशानुसार शुरू हुई मुहीम

 

मुंबई : मुंबई पुलिस कमिश्नर ने शहर भर के थानों को ये आदेश दिया है की वो अपने अपने थानों से फरार चल रहे आरोपियों को जल्द से जल्द गिरफ्तार कर उनकी फाइलें बंद करे. इस आदेश के बाद मुंबई के सभी थानों ने आरोपियों को पकड़ने की कार्यवाई तेज कर दी है. अब तक मुंबई के अलग थानों में करीब दो दर्जन से अधिक वांटेड अपराधियों को सलाखों के पीछे भेज दिया गया है. ये सभी आरोप अलग अलग मामलों में कई सालों से लापता थे.

बता दें कि, मुंबई पुलिस आयुक्त ने सभी पुलिस स्टेशनों को एक पत्र के माध्यम से पिछले कई वर्षो से बंद बड़ी फाईलो को जल्द से जल्द बंद करने का आदेश दिया है. साथ ही इस मामले में फरार आरोपियों को किसी भी तरह गिरफ्तार कर उन्हें जेल भेजने का भी आदेश दिया है. जिसके बाद से मुंबई पुलिस ने एक विशेष अभियान के तहत जांच को तेज करते हुए सभी पुराने फाईल खोलना शुरू कर दिया है.

देवनार पुलिस स्टेशन के वरिष्ठ निरीक्षक दतात्रे शिंदे ने भी आनन् फानन में पुलिस उपनिरीक्षक प्रदीप भीटाडे के साथ एएसआई मेघवाले,कांस्टेबल दगडू कदम,आवरे और वायदंडे की टीम बनाई. इस टीम ने तत्काल कार्रवाही करते हुए महज़ 48 घंटे में साल 2000 से यानी 17 वर्षो से फरार चल रहे संदीप मारुती पाटिल (41) को गिरफ्तार कर लिया. इसके साथ ही वर्ष 1990 से देवनार पुलिस स्टेशन में वांटेड अपराधी नजीर जब्बर शेख (48 ) 28 वर्षो के बाद धरदबोचा है. देवनार पुलिस ने ही वर्ष 2009 में मारपीट करने के मामले में फरार बाबु उत्तम जाधव (55 ) को मानखुर्द से गिरफ्तार कर लिया है. शिवडी पुलिस ने वर्ष 2005 में मारपीट करने के मामले में फरार अन्थोनी राज नाडर(30 ) को गिरफ्तार कर लिया है.

पुलिस के इस विशेष अभियान का मकसद है उन मामलों का जल्द से जल्द निपटारा जो पिछले कई सालों से धुल फांक रहे हैं.


Close Bitnami banner
Bitnami