बुरी फँसी ATS अफ़सरों पर पत्रकार के घर में फ़र्ज़ी रेड करने का आरोप

महाराष्ट्र ATS के अफ़सरों पर एक पत्रकार ने बेहद गम्भीर आरोप लगाते हुए उनके ख़िलाफ़ मामला दर्ज कर दिया है। एक वेबसाइट के पत्रकार गुलाम मकबूल कासिम शेख ने तीन ऐंटी टेररिजम स्क्वॉड (एटीएस) अधिकारियों के खिलाफ जबरदस्ती घर में घुसने, और उनके घर में चोरी करने का केस दर्ज करवाया है। पत्रकार  अपनी शिकायत में आरोप लगाया है कि, तीनों 25 अप्रैल को तीन लोग ख़ुद को ATS के अफ़सर बताकर उनकी गैरमौजूदगी में घर में घुसे, घर की तलाशी ली और वहां से लगभग 60,000 रुपये की कई चीजें चुरा लीं। 

जो जानकारी सामने आयी है उसके मुताबिक़, 25 अप्रैल को अपने किसी रिश्तेदार की तलाश में बाहर गए हुए थे। तभी तीन ATS के अधिकारी ने उनके घर में रेड मारी। उस वक़्त घर पर कोई नहीं था उस वक़्त उनके घर में सिर्फ़ बढ़ई काम कर रहा था। उसने उन्हें रोका भी लेकिन वो अधिकारी नहीं माने और घर में तलाशी लेने लगे। उन लोगों ने बढ़ई को बाहर निकाल दिया। बढ़ई ने फ़ौरन इसकी जानकारी घर के मालिक और पत्रकार शेख को दी। जिसकी सूचना मिली तो वह माहिम से तुरंत अपने घर की ओर चल पड़े। शेख जिस रिश्तेदार से मिलने गए थे, वह टेलिफोन एक्सचेंज रैकेट केस में वॉन्टेड हैं। 

ATS अधिकारियों पर सोने की चोरी का आरोप

पत्रकार ने जो FIR दर्ज कराई है उसने उन्होंने आरोप लगाया है कि, उनके घर पर रेड करने वाले तीन अधिकारी में से एक एस असिस्टैंट पुलिस इंस्पेक्टर थे और वो अपने दो सहयोगियों के साथ उनके घर में घुसे थे। 

ग़ुलाम शेख ने बताया कि, अधिकारियों ने रेड के नाम पर ATS के अधिकारियों ने उनके घर से सोने की तीन चेन, दो ब्रैंडेड घड़ियां और कुछ अन्य सामान लेकर चले गए, जिसकी कीमत लगभग 60,000 रुपये मिले। 

इस पूरी घटना के बाद ग़ुलाम शेख ने मांडपा पुलिस स्टेशन में दर्ज कर दी है। शिकायत में एटीएस के चार लोगों पर आरोप लगाया है। पुलिस ने धारा 170, 452 और 380 के तहत केस दर्ज कर लिया है। 

मामले की जाँच के रहे अफ़सर ने बताया कि, ‘ तीन लोग सीसीटीवी में जाते दिखाई दे रहे हैं, लेकिन हमने जब रेकॉर्ड चेक किया तो पचा चला कि एटीएस अधिकारियों की कोई एंट्री ही नहीं थी जबकि हर मामले में ऐसा किया जाता है।’ मामले पर एटीएस ने बताया है कि वे तीनों लोग एटीएस के ही हैं लेकिन वह घर में नहीं घुसे थे और कोई रेड भी नहीं हुई है।


Close Bitnami banner
Bitnami