उल्हासनगर में अस्पताल बन गया जंग का मैदान, वारदात सीसीटीवी में कैद

मुंबई से सटे उल्हासनगर में एक अस्पताल जंग के मैदान में बदल गया। एक दूसरे को लोग मारने मरने पर आमादा थे। ये सब हो रहा था। उल्हासनगर कैम्प क्रमांक पाँच में रहने वाले सिख समुदाय के दो गुटों के बीच। बताया जा रहा है की पुरानी रंजिश के चलते मच्छी मार्केट परिसर में पहले जमकर तलवारे चली। और जब घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया तो वहां भी दोनों गट आपस में भीड़ गए। फिल्मी स्टाइल में चली तलवार बाजी में दोनों गुटों के करीब आधा दर्जन लोग लहूलुहान हो गए हैं । इस झगड़े में बीचबचाव कर रहे पोलिस वालों सहित अस्पताल के डॉक्टर और कर्मचारी भी लोगों के आक्रोश का शिकार बन गए। लेकिन देर रात तक अस्पताल में चल रही ये पूरी वारदात अस्पताल में लगे सीसीटीवी में कैद हो गई है। हिल लाइन पुलिस ने दोनों गुटों पर प्राणघातक हमले का परस्पर मामला दर्ज कर मामले की तफ्तीश में जुट गई है।

दरअसल इस पुरे झगडे की शुरुआत हुई एक शराब की दूकान से, जहाँ मन्नू सिंह लबाना की चायनीज खान पान की दुकान है आरोप है की वहां पर शराब परोसा जाता है। जिसकी शिकायत परिसर मे रेहने वाले रणजीत सिंह लबाना ने पुलिस को थी। इसी बात से नाराज़ मन्नुसिंह लबाना ने रणजीत सिंह लबाना के परिवार वालो को बीच सडक पर अपनी गाडी से कुचलने की कोशिश की, स्कार्पियो की ठोकर में तीन लोग घायल हो गए।

जैसे ही ये बात रणजीत सिंह को पता चली वो अपने परिवार के कई लोगों के साथ तलवार,चॉपर, और डंडा जैसे हथियार लेकर मच्छी मार्केट आ धमके। वही मन्नू सिंह लबाना ने भी अपने गुट के सरदार युवकों को हथियारों के साथ बुला लिया था। दोनों गुट जैसे ही आमने सामने हुआ दोनों गुटों में जमकर तलवार बाजी हुई। इस भीषण तलवार बाजी में दोनो गुटो के दर्जनों लोग घायल हो गये। जिन्हें  उपचार के लिए उल्हास नगर के मध्यवर्ती सरकारी अस्पताल ले जाया गया

लेकिन उनकी लड़ाई यहीं नहीं रुकी अस्पताल में भी दोनों गुटों के रिश्तेदार और समर्थक आपस मे भीड गए। और उन्होने अस्पताल मे भी मारपीट और तलवार बाजी शुरू कर दी। मारपीट देख अस्पताल में ड्यूटी पर तैनात पुलिस हवलदार अरुण भाऊराव केदार सहित अस्पताल के डाक्टर दोनों गुटों में बीचबचाव करने गया तो उन्हें भी आक्रोशित सरदारों ने अपने आक्रोश का शिकार बना डाला। फिलाल उल्हासनगर हिल लाइन पुलिस ने दोनों गुटों पर प्राणघातक हमले का परस्पर मामला  दर्ज कर मामले की तफ्तीश में जुट गई है।


Close Bitnami banner
Bitnami