होशियार शहर में घुम रहे दो सीरियल रेपिस्ट, पुलिस को तलाश है इन दो संदिग्धों की

नवी मुंबई पुलिस दो ऐसे युवकों की तलाश में है जो अब तक 7 मासूम बच्चियों को अपना शिकार बना चुके हैं। ये दोनों इतने शातिर हैं कि, वारदात अंजाम देने के बाद सुराग तक नहीं छोड़ते हैं। लेकिन पहली बार नवी मुंबई पुलिस के हाँथ एक सुराग लगा है। एक सीसीटीवी कैमरे में दो संदिग्ध क़ैद हुए हैं जो बहुत हद उन आरोपियों से मिलते जुलते हैं। संदिग्धों की तस्वीरें जारी करते हुए पुलिस ने लोगों से गुज़ारिश की है किसी को भी ये संदिग्ध दिखाई दें वो फ़ौरन पुलिस को सूचित करें। इनकी खबर देने वालों को पुलिस 10 हजार रुपया का इनाम भी देगी।

नवी मुंबई पुलिस के मुताबिक, पिछले तीन महीनों में नवी मुंबई और मुंबई में अब तक 7 ऐसे रेप के मामले दर्ज किये गए हैं, जहाँ छोटी बच्चियों को शिकार बनाया गया है। सभी वारदातों में पीड़ितों ने एक जैसे हुलिया वाले शख्स की जानकारी दी है। ये सभी मामले अप्रैल, मई और जून महीने में नवी मुंबई सानपाड़ा, बेलापुर और खारघर में हुई और ठीक इसी तरह के दो मामले मुंबई में कांदिवली और दिंडोशी में भी दर्ज हुए हैं। दोनों जगहों पर इस संदिग्धों की मौजूदगी के बाद पुलिस ने दोनों की तलाश शुरू कर दी है।

पुलिस को जिन दो संदिग्धों की सीसीटीवी तस्वीरों मिली हैं उनमे से एक ने लाल टी-शर्ट पहने दिख रहा है जबकि दूसरा नीली टी-शर्ट पहने। नीली टी शर्ट वाला युवक कोपरखैरणे और तुर्भे में हुए बलात्कार की वारदात के बाद देखा गया था। दोनों की उम्र करीब 20 से 25 साल के बीच की है। जांच में सामने आया है की ये दोनों आम तौर पर वैसी लड़कियों को निशाना बनाते हैं जिनके पिता घर से बहार काम करने के लिए जाते है। इसके बाद ये संदिग्ध लड़कियों को ये बोलकर अपने साथ ले जाते हैं कि उनके पिता ने उन्हें बुलाया है। फिर सुनसान इलाके में उन्हें बेहोश कर अपने हवस का शिकार बनाते हैं।

हालांकि सीसीटीवी के जरिये पुलिस को दोनों की तस्वीरें ज़रूर मिल गयीं है, लेकिन इनसे जुडी कोई भी जानकरी सामने नहीं आई है। इन्हें पकड़ने के लिए नवी मुंबई पुलिस के इलावा क्राइम ब्रांच की कई अलग-अलग टीमें बनाकर उन्हें तलाश रही है।


Close Bitnami banner
Bitnami