डॉन दाऊद इब्राहिम को लेकर आई है ये खबर ! करांची के पास ट्रैक हुआ

नई दिल्ली : भारत के मोस्ट वांटेड आतंकी दाउद इब्राहिम को हाल ही में मंगलवार को पाकिस्तान के कराची के पास एक टापू पर ट्रैक किया गया है। कुछ दिनों पहले टाइम्स नाउ को जानकारी मिली थी कि दाउद को कराची के पास टापू पर एक सेफ हाउस में रखा गया है जिसकी सुरक्षा पाकिस्तान कोस्ट गार्ड के जवान करते  हैं।

सेफ हाउस में एक खुफिया रास्ता होने की बात भी सामने आयी है जहां से दाऊद को कुछ ही समय में दुबई पहुंचाया जा सकता है। हाल ही में भारतीय सुरक्षा एजेंसियों फारुक टकला को गिरफ्तार किया था जो पहले दाउद इब्राहिम के साथ काम करता था। उसका भी यही कहना है कि दाउद इब्राहिम दुबई में रहता है। इस समय टकला से सीबीआई अपने केंद्रीय मुख्यालय में पूछताछ कर रही है।

इससे पहले टाइम्स नाउ को यह जानकारी भी मिली थी कि दाउद इब्राहिम क्लिफ्टन कराची के पास एक सेफ हाउस में मौजूद है और जब भी भारत या अन्य किसी अंतर्राष्ट्रीय एजेंसी पाकिस्तान पर दबाब डालती है तो उसे कराची के पास टापू पर शिफ्ट कर दिया जाता है। यहां मौजूद सेफ हाउस में पाकिस्तान खुफिया एजेंसी आईएसआई दाउद की सुरक्षा करती है और वह सेटेलाइट फोन की खास फ्रीक्वेंसी पर आईएसआई के चुनिंदा खुफिया एजेंट्स के साथ संपर्क में रहता है।

फारुक टकला का कहना है कि क्लिफ्टन कराची में पाकिस्तानी रेंजर्स दाउद के परिवार की सुरक्षा करते हैं। आपातकाल की स्थिति में टापू पर मौजूद दाउद इब्राहिम के सेफ हाउस से कोस्ट गार्ड की खास नाव समुद्र के रास्ते 5 से 6 घंटे में उसे दुबई पहुंचा सकती है। टकला के मुताबिक वह खुद भी दाउद के साथ इस रास्ते से दुबई गया है। बता दें कि साल 2003 और 2005 में दो बार दाउद इब्राहिम को मारने की नाकाम कोशिश की जा चुकी है। दाउद पर यह हमला छोटा राजन और पाकिस्तान की स्थानीय संगठनों ने कराया था जिसे पाकिस्तान रेंजर्स ने नाकाम कर दिया था।

गौरतलब है कि फारुक टकला इस समय जांच में एजेंसियों का सहयोग नहीं कर रहा है। इसका कारण वह अपनी खराब तबियत बताता है। शुरुआती जांच में उसने बताया था कि वह अपनी इच्छा से भारत आकर अपनी अंतिम सांस मुंबई में लेना चाहता था। इसके अलावा यह भी बताया कि वह दुबई में छुपकर टैक्सी चलाने का काम करता था। उसने अपने परिवार के बारे में बताया कि उसके बड़े बेटे ने हाल ही में दुबई में नौकरी छोड़ी है और छोटा बेटा दुबई में ही कॉमर्स की पढ़ाई करता है। फारुक टकला की बीमार मां उसके जुड़वा भाई अहमद के साथ मुंबई में ही रहती है।

Source- Timesnow Hindi


Close Bitnami banner
Bitnami