VIDEO: HIMANSHU ROY अपने सर्विस रिवाल्वर को मुँह में रख कर ट्रिगर दबा दिया

आज दोपहर करीब 1.40 बजे मुंबई के है प्रोफ़ाइल अफसर हिमांशु रॉय ने खुद को गोली मार कर ख़ुदकुशी ली. वह 54 वर्ष के थे. अब उस कार का वीडियो सामने आया है जिसमे उनकी पत्नी उन्हें लेकर सबसे पहले बॉम्बे हॉस्पिटल पहुंचे थे. लेकिन अस्पताल पहुंचते ही डॉक्टर्स ने उन्हें मृत घोषित कर दिया. जानकारी के मुताबिक, हिमांशु रॉय ने मुंह में रखकर गोली मारी थी, जिसके चलते उन्हें बचाना बेहद मुश्किल हो गया था.

अब इस मामले में राजनीती भी शुरू हो गई है. कांग्रेस प्रवक्ता प्रियंका चतुर्वेदी ने हिमांशु रॉय के निधन पर अफ़सोस जताते हुए भाजपा सरकार पर हिमांशु के साथ अच्छा व्यवहार न करने आरोप लगाया है. उनका आरोप है की हिमांशु रॉय के अनुरोध को गृह मंत्रालय ने उनका अनुरोध ठुकरा दिया था. अब ये बात सामने आ रही है कि, साल 2015 में हिमांशु रॉय सहित कई ऑफिसर्स ने महाराष्ट्र गृह मंत्रालय को चिट्ठी लिखकर ट्रांसफर में पक्षपात और सीनियर ऑफसरों द्वारा खराब व्यवहार किए जाने की शिकायत की थी, जिसके बाद हिमांशु रॉय सहित शिकायत करने वाले अधिकारियों को दरकिनार कर दिया गया था.

जान बूझकर उनके जैसे तेज़ तर्रार अफसर को ATS चीफ पद से हटाकर कम महत्व वाले पुलिस हाउसिंग का ADG बना दिया गया था. महाराष्ट्र ATS में रहते हुए उन्होंने कई बड़े काम किये थे और मुंबई क्राइम ब्रांच भी उनका रिकॉर्ड अच्छा था फिर उनके साथ ऐसी बेरुखी क्यों ?

हिमांशु रॉय की जान को खतरा था इसे लेकर भी कई बार इंटेल इनपुट्स आए थे. रॉय उन चुनिंदा अफसरों में थे, जिन्हें z+ श्रेणी की सुरक्षा मिली हुई थी.

कौन थे हिमांशु रॉय

1988 बैच के आईपीएस अधिकारी हिमांशु रॉय का नाम 2013 में स्पॉट फिक्सिंग मामले में विंदु दारा सिंह की गिरफ्तारी, अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम के भाई इकबाल कासकर के ड्राइवर आरिफ के एनकाउंटर, पत्रकार जेडे हत्या प्रकरण, विजय पालांडे-लैला खान डबल मर्डर केस जैसे अहम मामलों से जुड़ा रहा. अंडरवर्ल्ड कवर करने वाले पत्रकार जे डे की हत्या की गुत्थी सुलझाने में हिमांशु रॉय ने अहम भूमिका निभाई थी.

हिमांशु रॉय कैंसर से पीड़ित थे

पूर्व ATS प्रमुख हिमांशु रॉय ब्लड कैंसर से पीड़ित थे. बीमारी सामने आने के बाद अप्रैल 2016 से वो मेडिकल लीव पर थे.

इन अहम पदों पर रहे सुपरकॉप हिमांशु रॉय

– अंडरवर्ल्ड में खौफ का पर्याय रहे हिमांशु रॉय मौत के वक्त महाराष्ट्र के ADGP (हाउसिंग) पद पर नियुक्त थे.

– इससे पहले वह महाराष्ट्र के ADGP (प्लानिंग एंड कोऑपरेशन) रहे.

– इससे पहले वह महाराष्ट्र के ATS चीफ रहे.

– 2009 में हिमांशु रॉय को मुंबई का ज्वाइंट कमिश्नर बनाया गया.

Mumbai Crime branch chief Himanshu Roy along with other officer showing materials used for murder of laila khan and her family members found from Igatpuri to media members at a press breifing in Mumbai on 11th July,2012

इन केसों को सुलझाया

-अभिनेत्री लैला खान मर्डर केस

-एडवोकेट पल्लवी पुरकयस्था मर्डर केस

-शक्ति मील गैंग रेप केस

-जर्नलिस्ट जे डे मर्डर केस

-आईपीएल फिक्सिंग केस

-विजय पलांडे केस

-इकबाल कासकर ड्रायवर आरिफ बैल मर्डर केस

-अंडरवर्ल्ड के कई गुर्गे छोटा राजन के कई गुर्गे इनके कार्यकाल के दौरान पकड़े गए


Close Bitnami banner
Bitnami