Crime

जब देश विकास कर रहा है तो 25 साल के सॉफ्टवेयर इंजीनियर गोपी ने खुदकुशी क्यों की ?

0
आज देश जहाँ कई तरह के मुद्दों में उलझा है तो वहीँ कुछ लोग गौ रक्षा और धर्म और जात-पात के नाम पर एक दूसरे को मारने मरने पर आमादा है। चारों तरफ ये शोर मचा है की अपना देश खूब विकास कर रहा है। लेकिन  25 साल की सॉफ्टवेयर इंजीनियर गोपी ने जिस वजह से ख़ुदकुशी की है। उसे सुनाने और समझने की बेहद ज़रुरत है।
मुंबई से सटे पुणे में 25 साल के सॉफ्टवेयर इंजीनियर गोपी एक होटल के कमरे से छलांग मारकर ख़ुदकुशी कर ली है। ख़ुदकुशी से पहले गोपी ने अपने नोट में इसकी वजह भी बताई है। लिखा है चारों तरफ देश में विकास का शोर मचा है लेकिन उसके पास जॉब नहीं है। वो खुद से हार चूका है और उसके पास ख़ुदकुशी के इलावा दूसरा कोई रास्ता नहीं बचता। इसके बाद गोपी ने होटल की छठे मंजिल से छलांग लगा दी। छलांग लगाने से पहले उसने अपनी कलाई को काटने की कोशिश भी की थी।
पलिस की मानें तो, खुदकुशी करने वाला शख्स “गोपीकृष्ण गुरुप्रसाद आंध्रप्रदेश के कृष्णा जिले निवासी था और पुणे की एक आईटी कंपनी में सॉफ्टवेयर इंजीनियर था। सुसाइड से तीन दिन पहले मतलब 9 जुलाई से ही काम शुरू किया था। कंपनी की ओर से पुणे के विमान नगर के होटल में रहने की व्यवस्था की गयी थी।  घटना बुधवार रात 1:40 की है जब गोपी ने होटल के छठे मंजिले की बालकनी से छलांग लगा दी। गिरने की आवाज आते ही होटल स्टाफ ने बहार आकर देखा तो गोपी निचा गिरा हुआ था। हालांकि उसकी सांसे चल रही थी उसे फ़ौरन अस्पताल ले जाया गया। मगर पहुंचने से पूर्व उसकी मौत हो गयी।
मौके पर पहुंची पुलिस को उसके कमरे से एक सुसाइड नोट भी मिला है। जिसमे उसने लिखा था कि, “मुझे डर लग रहा है कि मैं अपने परिवार की ठीक ढंग से देखभाल नहीं कर सकता। प्लीज मेरी फैमिली की देखभाल करें।” आगे लिखा था की “सॉरी दोस्तों, मैं अपने फ्यूचर को लेकर काफी चिंतित हूं, लव यू आल। आईटी में कोई जॉब सिक्यूरिटी नहीं है। मुझे अपनी फैमिली को लेकर चिंता है”
जानकारी के मुताबिक यहां  आने से पूर्व गोपी दिल्ली और हैदराबाद शहरों की आईटी कंपनी में भी जॉब कर चूका था,हलाकि गोपी के बॉडी का पोस्टमार्टम  कर परिवार वालो को सौप दिया गया।
Rahul Pandey

प्रधानमंत्री का मज़ाक उड़ाया तो साइबर सेल में AIB के खिलाफ दर्ज हो गई FIR

Previous article

सिर्फ गर्लफ्रेंड कि मनपसंद बाइक ही चुराता था उसका प्रेमी

Next article

Comments

Leave a reply

Your email address will not be published.

Close Bitnami banner
Bitnami