एक्ट्रेस की बहादुरी के बाद पकडे गए International Human Trafficking गिरोह के कई लोग

मुंबई पुलिस ने दो दिन पहले दो लड़कियों को यू एस भेजने वाले दो लोगों को गिरफ्तार किया था। उस मामले में पुलिस ने गिरोह के 4 लोगो को गिरफ्तार किया है। पकडे गए आरोपियों ने पूछताछ में खुलासा किया है की वो बॉलीवुड से जुड़े लोगों के साथ लड़कियों को विदेश भेजते थे। इनका ये खेल विदेशों में कॉन्सर्ट की आड़ में चलता था। कबूतरबाज़ी का ये काम कुछ कोरिओग्राफर्स की मिली भगत से चल रहा था। हालंकि पुलिस उन कोरिओग्राफर्स के नामों का खुलासा तो नहीं कर रही है, लेकिन इतना ज़रूर कह रही है की उनके खिलाफ काफी सबूत है और उनसे जल्द पूछताछ भी होगी।

गिरफ्तार आरोपियों ने पुलिस को बताया है कि, ये लोग कोरियोग्राफर्स के साथ जाने वाले डांसरों के नाम पर लड़कियों को भेजा करते थे। ये लड़कियों का ठीक वैसा ही मेक अप और फेस चेंजिग कराते थे जैसा की डांसर्स से मिलता जुलता हो। ताकि इनपर किसी को शक न हो।

 

ये पहली बार नहीं है कि बॉलीवुड पर इस तरह से कबूतरबाज़ी का आरोप लगा हो। मुंबई पुलिस ने इससे पहले भी आरिफ फारुखी, राजेश पवार,और फातिमा नाम के आरोपियों को गिरफ्तार किया था। इसी गिरोह के लोग आरिफ फारुखी के जरिए कबूतरबाजी का यह पूरा खेल चला रहे थे। आरिफ पहले बॉलिवुड में फोटो जर्नलिस्ट था, जबकि फातिमा ने अब्बास मस्तान, साजिद नादियाडाला और फराह खान जैसे बड़े निर्देशकों की कई फिल्मों के कलाकारों के हेयर स्टाइलिस्ट का काम किया करती थी। राजेश पवार ने कई बड़े निर्देशकों के साथ बतौर अस्सिटेंट कैमरामैन काम करते थे।

पुलिस ने दो दिन पहले इस गिरोह के दो लोगों को एक एक्ट्रेस कि पहल को गिरफ्तार किया था। पकडे गए दो लड़कियों का वर्सोवा के एक सलोन में मेकअप करा रहे थे, तभी एक्ट्रेस प्रीती सूद को उनपर शक हुआ था और उसने इसकी जानकारी पुलिस को दे दी थी।


Close Bitnami banner
Bitnami