अब बिहार के एनकाउंटर स्पेशलिस्ट बनेंगे ‘ अक्षय कुमार’, विजय सम्राट को दबोचने निकले हैं

सत्य घटनाओं पर आधारित आईपीएस अमित लोढ़ा की लिखी बहुप्रतीक्षित किताब ‘ बिहार डायरीज़ ‘ 20 जुलाई को रिलीज़ हो गयी है। इसके साथ किताब के राइट्स भी बिक गए हैं और Wednesday, बेबी, M.S. Dhoni: The Untold Story, Aiyyari फेम नीरज पांडेय इस पर फिल्म भी बनाने जा रहे हैं। लेकिन इस फिल्म को लेकर दो फिल्म मेकर की आपस में भाड़ंत हो गयी है। अमित लोढ़ा की मानें तो इस किताब पर फिल्म बनाने के लिए राकेश ओम प्रकाश महरा भी उनसे कई बार संपर्क कर चुके हैं। उसने उनकी मुलाक़ात जैसलमेर में न हुई थी और आईपीएस लोढ़ा ने सबसे पहले उन्हें अपनी किताब की कहानी बताई थी। जिसके बाद मेहरा ने उन्हें किताब लिखने के लिए प्रेरित किया बाद में राकेश ओमप्रकाश मेहरा अपनी फिल्म मिर्ज़्या में व्यस्त हो गए और दोनों के बीच समपर्क टूट गया। इसी लिए अब राईट्स नीरज पांडेय के पास है।

सूत्र बताते हैं की इस फिल्म को ट्विंकल खन्ना प्रोड्यूस करने जा रही है। और हो सकता है की इस फिल्म आईपीएस अमित लोढ़ा का किरदार नीरज के फेवरेट अक्षय कुमार करेंगे। नीरज पांडेय के मुताबिक उनकी और आईपीएस लोढ़ा की मुलाक़ात सिर्फ 20 मिनट के लिए होने वाली थी, लेकिन ये आठ घंटे तक चली। किताब ‘ बिहार डायरीज़ ‘ बिहार के कुख्यात अपराधी विजय सम्राट की गिरफ्तारी के रोमांचक संघर्ष पर आधारित है। बिहार के एक गुमनाम से जिले शेखपुरा के पुलिस अधीक्षक के रूप में कार्य करते हुए आई पी एस अधिकारी अमित लोढ़ा ने इस दुर्दांत अपराधी विजय सम्राट को गिरफ्तार किया था। अपहरण , गैंगवार और हत्याओं जैसे तमाम अपराधों के लिए तीन राज्यों की पुलिस विजय सम्राट के पीछे थी। इस गिरफ्तारी के लिए क्या हुआ ? कैसे हुआ ? यह सारा रोमांच और पुलिस की दिलेरी ‘ बिहार डायरीज़ ‘ के पन्ने पन्ने पर लिखी है।

मशहूर लेखक एस हुसैन जैदी इस किताब को पेश कर रहे हैं और अभिनेत्री ट्विंकल खन्ना ने इसकी प्रस्तावना लिखी है। पेंगुइन रैंडम हाउस इण्डिया बिहार डायरीज़ की प्रकाशक है। आईपीएस अधिकारी अमित लोढा ने अक्षय कुमार को वेबसाइट https://bharatkeveer.gov.in/ बनाने के लिए प्रेरित किया, जिसे गत 9 अप्रैल को लॉन्च किया गया है। यह एक ऐसा डिजिटल प्लेटफ़ॉर्म है, जिसके द्वारा अर्धसैनिक बलों के शहीद भारतीय सैनिकों के परिवारों को सीधे आर्थिक सहायता भेजी जा सकती है । अमित लोढा बिहार कैडर के 1998 बैच के आईपीएस अधिकारी हैं।