क्या नवाजुद्दीन को बचानें के चक्कर में अपनें ही जाल में फँस गई ठाणे पुलिस ?

सीडीआर मामले में ठाणे पुलिस नें जो जाँच एक्टर नवाजुद्दीन सिद्दीक़ी से शुरू की थी अब वही उनके गले का फाँस बन गई है। पुलिस अदालत में ये पेश नहीं कर पा रही है कि वक़ील रिज़वान की गिरफ़्तारी का वजह क्या रही। अगर इस मामले मे रिज़वान आरोपी है तो अभिनेता नवाज गवाह कैसे हुए।

सीडीआर मामलें अब जैकी श्राफ की पत्नी आएशा से होगी पुछताछ

वक़ील रिजवान सिद्दिकी की गिरफ्तारी मामले में बॉम्बे हाई कोर्ट का कड़ा रुख सामनें आया है। ठाणे मजिस्ट्रेट कोर्ट के द्वारा दिए गए पुलिस रिमांड के खिलाफ रिजवान सिद्दीकी की पत्नी ने बॉम्बे हाई कोर्ट का दरवाज़ा खटखटाया था। रिजवान की बीवी ने अपनी याचिका में कहा था की गिरफ्तारी से पहले पुलिस ने सीआरपीसी 41 a का नोटिस नहीं दिया था। रिज़वान के वक़ील की तरफ़ ये यही दलील कोर्ट में दी गयी थी। हालाँकि पुलिस ने भी अपना पक्ष रखा कहा कि,हमने रिज़वान को नोटिस देने की कोशिश की थी लेकिन उनकी तरफ़ से लिया नहीं गया।

लेकिन अदालत ने पुलिस की सारी दलीलों को दरकिनार कर बेहद कड़ा रुख रखा है। अदालत ने पुलिस से पुछा की है क्या आप रिजवान सिद्दिकी को छोड़ रहे हैं या फिर हम आपके खिलाफ आर्डर जारी करें ।पुलिस ने 01 बजे तक का वक्त माँगा है।


Close Bitnami banner
Bitnami