Netflix के शो #Sacred Games में पूर्व प्रधानमंत्री राजीव और इंदिरा गाँधी के लिए आपत्तिजनक शब्द

इंटरनेशनल और मशहूर स्ट्रीमिंग चैनल नेटफ्लिक्स पर पहली बार भारत का पहला ‘ओरिजनल सीरीज’ रिलीज किया गया है. लेकिन इसके साथ ही कई विवाद भी सामने आने लगा है. इस मोस्ट अवेटेड शो में ऐसी भाषाओँ का इस्तेमाल किया गया है जो बेहद आपत्तिजनक है. लेकिन सबसे हैरान करने वाली बात है की इस शो के नैरेशन में कई बार देश के पूर्व प्रधानमंत्री राजीव और इंदिरा गाँधी के लिए आपत्तिजनक शब्दों का इस्तेमाल किया गया. ऐसे शब्दों का जिसका यहाँ ज़िक्र तक नहीं किया जा सकता है. सीधे तौर पूरे सीरीज़ के दौरान उन्हें गालियां दी जाती है. कभी पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय राजीव गाँधी शाह को बानो केस को लेकर तो कभी एमर्जेन्सी के दौरान चलने वाले नसबंदी कांड का ज़िक्र करते हुए इंदिरा गाँधी के खिलाफ कई ऐसी बातें की गयीं हैं जिसका इस्तेमाल देश दो बड़े नेताओं के खिलाफ नहीं किया जाना चाहिए.

Sacred Games- Nawazuddin and Saif Ali Khan

इस सीरीज़ का प्लाट 80 और 90 के दशक के इर्द गिर्द घूमता दिखाया गया है. जिसे कई बार फ्लैश बैक में दिखाया गया है जिसका नैरेशन शो में गणेश गाईतोंडे का किरदार करने वाले एक्टर नवाज़ुद्दीन सिद्दीक़ी ने किया है. वो 80 और 90 के दशक में होने वाली कई बड़ी घटनाओं का ज़िक्र करते हुए उसका सीधा ठीकरा इन लोगों पर फोड़ते सुनाई देते हैं. नवाज़ पूरे नैरेशन के दौरान फर्राटे से पूर्व प्रधान मंत्रियों और देश दूसरे बड़े नेताओं को फर्राटे से गालियां देते चले जा रहे हैं, जो बेहद विवादस्पद और आपत्तिजनक हैं.

इस सीरीज़ सेक्रेड गेम्स में सैफ अली खान , नवाजुद्दीन सिद्दीकी और राधिका मुख्या भूमिका में हैं. सैफ अली खान सरताज सिंह के कैरेक्टर में हैं जो मुंबई पुलिस में कार्यरत एक सिख पुलिसकर्मी है और जिसे मुंबई में होने वाले हमलों की लीड मिली है. इस सीरीज़ का दूसरा अहम है गणेश एकनाथ गायतोण्डे जो नवाजुद्दीन सिद्दीकी निभा रहे हैं.गणेश गायतोण्डे पर 150 लोगों की कत्ल का आरोप है और वह पिछले 17 सालों से फरार है. तीसरा किरदार है अंजलि माथुर (राधिका आप्टे) का जो गणेश और सरताज के बीच की कड़ी है और संभावित हमलों की जांच कर रही है.

नेटफ्लिक्स के इंडियन सीरीज़ सेक्रेड गेम्स का निर्देशन अनुराग कश्यप और विक्रमादित्य मोटवाने  ने मिलकर किया है. वेब सीरीज सेक्रेड गेम्स विक्रम चंद्रा की 928 पन्नों की इसी नाम से लिखी गई किताब पर आधारित है. लेकिन इसे वेब ऑडिएंस के लिए कहानी वरुण ग्रोवर, स्मिता सिंह और वसंत नाथ ने लिखा है.


Close Bitnami banner
Bitnami