गिरफ्तारी के डर से राखी सावंत बुरखा पहनकर पहुंची कोर्ट

गिरफ्तारी के डर से आइटम गर्ल राखी सावंत बुरखा पहनकर लुधियाना की कोर्ट पहुंची थी। उन्हें लगा था की कोई उन्हें पहचान नहीं पायेगा। लेकिन मीडिया ने उन्हें पहचान लिया और वो कैमरे में क़ैद हो गयीं। अदालत ने राखी सावंत के खिलाफ धार्मिक भावनाएं आहत करने के आरोप में गैर ज़मानती वारंट जारी किया था। राखी उसी मामले में अंतरिम जमानत की अर्जी लगाने आई थी। लुधियाना के जिला एडिशनल सेशन जज मोनिका गोयल की अदालत ने इस अर्जी पर सुनवाई की तारीख चार अगस्त तय की है।

लुधियाना कोर्ट के ही वकील नरिंदर आदिया ने राखी सावंत के खिलाफ भगवान वाल्मीकि के बारे में अपमानजनक टिप्पणी करने का आरोप लगाया था। उन्होने आइटम गर्ल राखी के खिलाफ स्थानीय अदालत में क्रिमिनल कंप्लेंट दर्ज कराई थी। उसी शिकायत के आधार पर अदालत ने राखी सावंत को तलब किया था, मगर कई सम्मन भेजे जाने के बाद भी वो पेश नहीं हुईं थी । तब अदालत ने आरोपी राखी के खिलाफ गैर-जमानती वारंट जारी किया था।

जिसके बाद गिरफ्तारी से बचने के लिए राखी ने 6 जुलाई को यहां ज्युडीशियल मजिस्ट्रेट की अदालत में पेश होकर जमानत ले ली थी। उन्होंने ने ज़मानत के लिए एक बॉन्ड तो भर दिया था, लेकिन दूसरा भर नहीं पायीं थीं। तो अदालत ने उनका जमानत रद कर गिरफ्तारी वारंट जारी करते हुए पेशी की तारीख 7 अगस्त तय की थी। इसके बाद ही राखी ने ट्रायल कोर्ट की आेर से जारी गिरफ्तारी वारंट से बचने को अंतरिम जमानत की अर्जी लगाई थी।


Close Bitnami banner
Bitnami