SHOCKING: आखिरकार माँ गीता कपूर के संस्कार के लिए शव लेने पहुंची बेटी आरध्या

दो दिन पहले एक वृद्धाश्रम में फिल्म ‘पाकीजा’ के साथ कई साड़ी फिल्मों में काम कर चुकी अभिनेत्री गीता कपूर का निधन हो गया था. वो पिछले कई महीनों से मुंबई के अंधेरी इलाके स्थित एक वृद्धाश्रम रह रहीं थीं. क्यूंकि उनके बेटे- बेटियों ने सड़क पर उन्हें मरने के लिए छोड़ दिया था. इसके बाद से ही फिल्माकर अशोक पंडित उनकी देख रेख कर रहे थे. उनके निधन की खबर भी उन्होंने ही दी.

इसके बाद अशोक पंडित ने ये भी जानकारी दी की उनके निधन के बाद उनकी बेटी आराध्या अपनी माँ के पार्थिव शरीर को लेने आई है. उन्होंने लिखा कि, “बेहद दुखद खबर है कि अपने बच्चों को आखिरी बार देखने की उम्मीद में गीता कपूर का देहांत हो गया.” लेकिन अब उनके देहांत के बाद गीता जी का पार्थिव शरीर दो दिन तक अस्पताल में रखा जायेगा ताकि उनका परिवार आकर उसे ले जाये.

इसके बाद रविवार को उन्होंने बताया कि उनकी बेटी आराध्या कपूर मां के पार्थिव शरीर को बरामद करने अंबोली पुलिस स्टेशन आईं. बातों-बातों में आराध्या ने बताया कि उन्हें इस बात की जानकारी नहीं थी कि उनकी मां वृद्धाश्रम में रह रही थीं.

अशोक पंडित ने ये भी जानकारी दी कि, गीता कपूर जी की बेटी आराध्या ने उन्हें बताया कि वो पेशे से प्राइवेंट कंपनी में एयरहोस्टेस हैं. इस कंपनी के विमान महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस द्वारा उपयोग किए जाते हैं. आगे उन्होंने जानकारी दी कि, बेटी आराध्या गुप्त रूप से अपनी मां गीता कपूर का अंतिम संस्कार कराना चाहती हैं. वह चाहती हैं कि कोई भी इसमें हस्तक्षेप न करे. अशोक लिखते हैं कि अब मुझे समझ आया कि पहले उसने अपनी मां को अकेले क्यों छोड़ दिया था. अशोक पंडित ने आराध्या से अंतिम संस्कार में शामिल होने की इच्छा जाहिर की. उन्होंने फिल्म उद्योग से जुड़े, डॉक्टर्स और वृद्धाश्रम के लोगों को अंतिम संस्कार में शामिल होने की बात रखी, लेकिन आराध्या ने साफ इनकार कर दिया.

Geeta

आराध्या का दावा उसे नहीं पता था माँ कि ऐसी हालत हो गयी है

जब अशोक पंडित ने जब आराध्या से पूछा कि वह अब तक क्यों नहीं सामने आईं? आराध्या ने जवाब दिया की उसे इस बात कि ज़रा भी जानकरी नहीं थी कि मां की हालत ऐसी हो गयी. उन्हें वृद्धाश्रम में रखा गया है उसे ये भी नहीं मालूम था. हालंकि अशोक पंडित का दावा है कि आराध्या झूट बोल रही थी.


Close Bitnami banner
Bitnami