Bollywood/FashionTop StoriesTrending News

SHOCKING: ‘मैं पागल खाने में था’ कॉमेडियन सिद्धार्थ

0

कॉमेडियन सिद्धार्थ सागर ने अब जो खुलासा किया है वो बेहद चौंकाने वाला है. सिद्धार्थ ने खुलासा किया है की पिछला चार महीना उनकी ज़िन्दगी के सबसे खौफनाक दिन थे. उनके अपनों ने उन्हें पागल बनाने की साज़िश रची थी और वो पिछले चार महीनों से पागल खाने में थे. उन्होंने वहां से निकलने की बहुत कोशिश की लेकिन किसी ने उनकी मदद नहीं की. वो किसी तरह वहां से निकल पाए हैं. इसी लिए वो फिलहाल खुलकर सामने नहीं आना चाहते. लेकिन दो से तीन दिन के अंदर वो सामने आएंगे और उन सभी चेहरों को सामने लाएंगे जो उनको रास्ते से हटाकर अपना फायदा करना चाहते थे.

#throwback Loook what I found 😊 I had a sparrow and tintin

A post shared by Sidharth Sagar (@sidharthsagar.official) on

चार महीने पागलखाने में थे सिद्धार्थ

सिद्धार्थ ने खुद खुलासा किया है की उनकी माँ जो बातें उनके दोस्तों को बता रहीं थीं वो सरासर गलत है. मेरी ज़िन्दगी पिछले 1 साल में जहन्नुम बना दी गयी है. मैं बता नहीं सकता की लाइफ में मैंने जो अप एंड डाउन देखा है वो दुश्मन को भी देखने को मिले. दुनिया से अलग थलग कर दिया गया था मुझे, ताकि सच्चाई सामने नहीं आ सके. मैं इस क़दर खौफ्फ़ में था की दोस्तों को भी सच्चाई नहीं बता पा रहा था. मैं काफी डर गया था. लेकिन अब बहुत हुआ अब नहीं मैं जल्द ही इस पूरे खेल से पर्दा उठाऊंगा और सभी सवालों के जवाब दूंगा.

झूट बोला गया मैं रिहैब में हूँ !

मेरी माँ ने मेरे दोस्तों को झूट बोला था की मैं रिहैब में हूँ. जब उन लोगों ने भी सच्चाई जानने की कोशिश की तो उन्हें भी धमकाया गया इसी लिए मैंने फेसबुक पोस्ट हटाने कहा था. मुझे पता था खुद को बचाने के लिए ये लोग मेरे दोस्तों को भी तकलीफ में डाल सकते हैं.  अब जल्द ही मैं सब कुछ साफ़ कर दूंगा. शायद आपको लोग इस बात से हैरान होंगे की मुझे रिहैब में नहीं बल्कि मैं पागलखाने में था. और इसके पीछे कोई और नहीं बल्कि मेरा पाना परिवार है. जिनका काफी समय से प्रॉपर्टी विवाद चल है. उन्हीं लोगों ने मुझे वहां तक पहुँचाया था अब मैं किसी तरह बहार आया हूँ और उस ट्रामा से बाहर आने की कोशिश कर रहा हूँ.

फिलहाल सिद्धार्थ किसी गुमनाम जगह पर हैं और वो नहीं चाहते हैं की वो फिर से मुसीबत में पड़े. लेकिन वो ये दावा कर रहे हैं की जल्द ही वो सामने आएंगे और उस चार महीने से जुडी हर कहानी सामने लाएंगे जो उनकी ज़िन्दगी के सबसे बुरे दिन थे.

गुजरात: घुड़सवारी करने पर दलित युवक की हत्या

Previous article

आख़िर क्यूँ Actor Gurmeet Chaudhary को मुंबई पुलिस से माँगनी पड़ी मदद

Next article

Comments

Comments are closed.

Close Bitnami banner
Bitnami