Bollywood/FashionTop Stories

अब क्या होगा दुबई के होटल के कमरा नंबर 2201, सामने आई चौंकाने वाली जानकारी

0

बॉलीवुड अभिनेत्री श्रीदेवी की दुबई के होटल में हुई अचानक मौत ने लोगों के मन में कई सवाल पैदा कर दिए हैं। फोरेंसिक रिपोर्ट में बताया गया कि बाथटब में डूबने से उनकी मौत हुई।

ऐसी कई मौतें होटल के कमरों में होती हैं, जिसमें नेचुरल डेथ के अलावा मर्डर और सुसाइड जैसे मामले भी सामने आते हैं, लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि किसी होटल में ऐसी मौत होने के बाद उस कमरे का क्या किया जाता है? अगर नहीं, तो आज हम आपको बता रहे हैं कि ऐसी सिचुएशन में क्या कदम उठाता है होटल स्टाफ और क्या होता है उस कमरे के साथ।

एक इंटरनेशनल होटल में 10 साल तक मैनेजर रहे माइक होलोवेक्स ने एक ब्लॉग में बताया कि अगर किसी गेस्ट की रूम में मौत हो जाती है, तो सबसे पहले उस रूम को सील कर दिया जाता है। होटल स्टाफ को पुलिस के आने तक किसी भी चीज से छेड़छाड़ करने की इजाजत नहीं होती। हालांकि, कई बार उस शख्स को बचाने या हॉस्पिटल पहुंचाने के मामलों में स्टाफ मदद कर सकता है।

इस कड़ी में कई प्रोटोकॉल्स हैं, जो होटल स्टाफ फॉलो करता है। इसमें से एक है होटल रूम पर अधिकार का। यानी कि जबतक पुलिस की जांच पूरी नहीं हो जाती, होटल के उस कमरे पर होटल का अधिकार नहीं होता। जांच पूरी होने के बाद ही होटल उस रूम का इस्तेमाल कर सकता है। होलोवेक्स ने आगे बताया कि नेचुरल डेथ हो या सुसाइड, पूरे रूम का एक-एक हिस्सा साफ किया जाता है। कई होटल्स पूरी तरह से इंटीरियर को बदल देते हैं।

अक्सर ऐसे मामलों में होटल मैनेजमेंट उस रूम का नंबर बताने से बचता है, लेकिन ज्यादातर मामलों में मीडिया के जरिए ये रूम नंबर लीक हो जाते हैं और होटल को इससे नुकसान होता है। अगर होटल नंबर लीक हो जाए या बताना अनिवार्य हो, तो कई होटल्स उस रूम का नंबर हमेशा के लिए खत्म कर देते हैं। ऐसे कई मामले सामने आए हैं, जिसमें होटल मैनेजमेंट ने रूम नंबर की सीरीज ही बदल डाली। हालांकि, कई होटल्स बिना नंबर बदले ही रूम को फिर से सर्विस में ले आते हैं।

Source

जब मुंबई पुलिस ने बड़बोले एजाज़ खान की कर दी छीछालेदर, ट्विटर पर जमकर ट्रोल कर रहे हैं लोग

Previous article

EXCLUSIVE : श्रीदेवी के अंतिम संस्कार में पकडे गए मुंबई के 13 खतरनाक पॉकेटमार

Next article

Comments

Comments are closed.

Close Bitnami banner
Bitnami