0

मध्यप्रदेश में हनीट्रैप मामले में खुलासे के बाद हड़कंप मचा हुआ है। लेकिन इस गिरोह की सरगना अन्य लड़कियों को भी अपने जाल में फंसा ट्रैप करती हैं। इस केस से अलग एक और केस है, जिसमें एक लड़की आपबीती है। वो कुछ साल पहले ऐसे ही एक गिरोह की चंगुल में फंस गई थी। पुलिस की चार्जशीट में उसकी आपबीती है। उसकी कहानी भोपाल से शुरू हुई और न जाने कितने शहरों में भेजी गई। कई नेताओं के सामने परोसा गया। 

हम उस लड़की की पूरी आपबीती इस स्टोरी में बताएंगे। लड़की ने जो पुलिस को बात बताई है, हुबहू हम वहीं बात आपके सामने रखेंगे, सिर्फ पीड़ित लड़की का नाम और पता बदला होगा। सलोनी (बदला हुआ नाम) भोपाल के ही रहने वाली थी, लेकिन अपनी मां के साथ नानी घर कटनी हुई थी। अंजू ने दसवीं तक पढ़ाई की है। लेकिन उसके सपने मॉडल बनने के थे। फेसबुक के जरिए वह कुछ हाई प्रोफाइल महिलाओं के संपर्क में थी।

जबलपुर से वेश्यावृत्ति तक 
13 नंवबर 2015 में जब सलोनी अपनी मां और मामा के साथ जबलपुर स्टेशन भोपाल आने के लिए पहुंची थी। मॉडल बनने का सपना देख रही सलोनी मां को छोड़ कटनी जाने वाली ट्रेन पर बैठ गई। उस वक्त उसके पास मां के तीन हजार रुपये, स्कूल और दो जोड़ी कपड़े थे। कटनी में उतरकर वहां भोपाल जाने वाली ट्रेन पता की। फिर में उसमें सवार होकर भोपाल पहुंच गई। यहां पहुंचने के बाद वह डीबी मॉल के पास पहुंची। यहां से सुबह दस-ग्यारह बजे अंजलि (बदला हुआ नाम) को फोन की। जिससे उसकी पहचान फेसबुक के जरिए हुई थी। अंजलि अपने बॉयफ्रेंड के साथ उसे लेने आई। वह महिला न्यू मार्केट के पास सपंदा क्वार्टर में रहती थी। महिला के पिता के पास न्यूज पेपर की एजेंसी है।

आपके जैसे बनना है
सलोनी ने अंजलि के पर्सनालिटी से काफी इंप्रेस थी, उसने कहा कि मैडम मुझे भी आपके जैसा बनना है। उसके बाद अंजलि ने कहा कि तुम्हारा पहले पोर्ट फोलियो बनवाना पड़ेगा, तभी तुम बड़े-बड़े लोगों से मिलकर टीवी पर आ पाओगी। सलोनी ये सारी बातें अपनी माता-पिता को नहीं बताती थी। चुपके-चुपके सलोनी अंजलि से बात करते रही। इसके बाद प्लेटिन प्लाजा में जब अंजलि फिर सलोनी से मिली तो उसे अपनी बेटी बताकर अंजलि अपने एक दोस्त के घर छोड़ आई और उससे बोली कि इसका ख्याल रखना।

अपने दोस्तों से मिलती रही सलोनी 
अंजलि के दोस्त के घर से सलोनी अपने दोस्तों के पास चली गई। एक दिन उसकी मुलाकात मॉडल दोस्त से हुई जो कोलार में रहती थी वह कोलार उसे अपने घर लेकर चली गई। वहीं से वह एक दिन अंजलि को फोन की। उसके बाद अंजलि ने उसे प्लेटिनम प्लाजा फिर बुलाई। जब सलोनी वहां पहुंची तो वह मोपेड के साथ खड़ी थी, वहां से उसे लेकर वह फेकचर अस्पताल पहुंची, जहां एक अधेड़ उम्र का शख्स होंडा सिटी कार लेकर खड़ा था। कार में बैठ तीनों एक फॉर्म हाउस पहुंचे, जिसका पता सलोनी को नहीं है। वहां जाने के बाद अंजलि उस पचास वर्षीय शख्स के साथ कमरे में चली गई, करीब पौन घंटे बाद बाहर निकली।

तू अंदर जा, तेरा सिलेक्शन हो गया
उसके बाद अंजलि ने सलोनी से कहा कि अब तू अंदर जा, तेरा सिलेक्शन हो गया है। अंदर अच्छे से लुक टेस्ट देना। मैं अंदर गई तो कार वाला वह शख्स अंदर मौजूद था। उसने गेट लॉक कर दिया। उसने मुझसे कुछ पूछा और कहा कि मॉडल बनने आई हो लेकिन ये इतना आसान नहीं है। चलो अब लुक टेस्ट देना शुरू करो। मैंने कहा कि ये मेरा प्रोफाइल है। उस व्यक्ति ने कहा कि ये वाला नहीं अपने कपड़े उतारकर दो। मैंने इससे इनकार कर दिया। लेकिन वो खुद आकर कपड़े हटाने लगा। मैंने उसका हाथ झटक दिया तो गुस्से में चिल्लाया और अंजलि को बुलाकर लाया। अंजलि ने कहा कि जैसा सर कह रहे हैं, वैसा करो। मैंने मना कर दिया तो अंजलि ने मुझे मारना शुरू कर दिया। फिर हाथ पैर बांध दिया। उस शख्स ने मेरे साथ जबरन संबंध बनाए। फिर दस हजार रुपये मेरे बिस्तर पर रख दिया।

किस मुंह से घर जाओगी
अंजलि कमरे के अंदर आई तो मैंने कहा कि ये सब क्या करवा दिया। ये सभी बातें मैं मम्मी-पापा को जाकर बताऊंगी। यह सुनकर अंजलि हंसने लगी और सलोनी से बोली कि किस मुंह से तू घर जाएगी, मैंने तुझे मॉडल बना दिया है। और फेमस कर दिया हूं, तुम्हारा वो वीडियो भी बना लिया हूं। जिसे उसने मुझे अपने मोबाइल पर दिखाया। उसके बाद अंजलि ने मुझे उसमें से दो सौ रुपये दिए। फिर फेक्चर अस्पताल के पास छोड़कर बोली कि तू अपनी दोस्त के यहां चली जा। मैं वहां गई लेकिन डर से किसी को कुछ नहीं बताई।

ये दद्दू हैं
कुछ दिन बाद अंजलि का फिर मैसेज आया, प्लेटिन प्लाजा ही बुलाई। उसके बाद उसी फॉर्म हाउस पर ले गई और बोली कि मैं तुझसे ऐसे ही धंधे करवाऊंगी और पैसे कमाऊंगी। मैने पूछा कि ये कौन हैं, तो उसने बताया कि ये दद्दू हैं , भोजपुर रोड पर एक कॉलेज के ऑनर हैं। मेरी छोटी बहन यहीं पढ़ती है। फिर मुझे कमरे के अंदर भेजा गया, मैंने मना किया लेकिन इस बार भी वहीं सब हुआ। दद्दू ने इस बार तीस हजार रुपये दिए, जिसमें से अंजलि ने पांच हजार रुपये मुझे दे दिए। फिर मैं अपनी दोस्त के पास चली गई।

पांच लोगों ने इस बार गलत किया
एक बार फिर से अंजलि ने मुझे पंद्रह दिन बाद बुलाया। फिर एक रेड कलर की एसयूवी से रातीबड़ फॉर्म हाउस ले गई। जहां पांच बड़ी उम्र के लोग बैठे थे। पांचों ने बारी-बारी से अलग-अलग कमरों में संबंध बनाए। एक आदमी ने मुझे 60 हजार और अंजलि को 80 हजार रुपये दिए। बाहर निकलने पर अंजलि ने मुझसे बाकी पैसे लेकर सिर्फ 10 हजार रुपये दिए। वहां से मैं फिर दोस्त के पास आ गई। दो दिन बाद अंजलि के फिर फोन आए। मैं मिलने के लिए पहुंची तो उसने कहा कि अब तुमसे से कोई गलत काम नहीं करवाऊंगी। तुम्हें सूरत में नौकरी दिलवा देता हूं। मैंने पूछा कि वहां कोई गलत काम तो नहीं होगा न तो वो बोली की नहीं।

सूरत चली गई
मैं भोपाल से अपनी दोस्त को बिना बताए कि मैं सूरत रवाना हो गई। वहां मुझे अंजलि के बताए अनुसार होंडा कार लिए एक अनीश (बदला हुआ नाम) का व्यक्ति लेने आया। वह एक बिल्डिंग के सबसे ऊपर वाले माले पर दो कमरों के ऑफिस में ले गया और वहां से चला गया। उसके बाद वहां के ऑफिस ब्वॉय से पूछा कि पार्लर कहां है तो उसने कहा यहां कुछ नहीं है और कोई जॉब नहीं है। उसके बाद मुझे कमरे में बंद कर दिया गया। कुछ घंटे बाद एक मोटा आदमी आया और मेरे साथ गलत करने की कोशिश करने लगा। ऐसे ही एक और व्यक्ति आया। मेरे चिल्लाने के बाद दोनों लौट गए। फिर अनीश आया और बोला कि अंजलि ने दस दिनों के लिए तुम्हें इसी काम के लिए भेजा है। उसके बाद उसने अंजलि से बात कराई। फिर वीडियो वायरल करने की वह धमकी दी। मैं डर गई और अगले दस दिनों तक दर्जनों लोगों ने मेरे साथ शारीरिक संबंध बनाए।

अब तुझे गोवा जाना है
दस दिन बाद अंजलि के फोन आए और उसने कहा कि अब तुझे गोवा जाना है। मैं वहां से गोवा चली गई, वहां राहुल (बदला हुआ नाम) ने मुझे रिसीव किया। वहां बागा बीच के पास मुझे दिनेश होटल में ले जाया गया। उसके बाद होटल से राहुल मुझे रिसॉर्ट में नए-नए ग्राहकों के पास भेजता, जो मेरे साथ गलत करते। मैं मना करती तो वो धमकी देते और बोलते तुम्हारी मां से भी यही करवाऊंगा। फिर वह एक गोवा में ही मकान ले लिया और दूसरी शहरों से भी लड़कियां लाया। ग्राहक भी गुरुग्राम और दिल्ली से आते थे। ये सिलसिला वहां चलते रहा।

राहुल ने पार्टनर से मिलवाया
इसके राहुल ने गोवा में अपनी पार्टनर तुलिका(बदला हुआ नाम) से मिलवाया। तुलिका बोली कि जहां मैं ले जा रही हूं वो सब मेरे अच्छे दोस्त हैं, नखड़े मत दिखाना। एक होटल एक कमरे में ले गई, जहां चार लोग बैठे थे। इसके बाद एक आदमी मुझे अपनी गोद में बिठाने लगा तो मैं रोने लगी। उसके बाद तुलिका मुझे दूसरे कमरे में ले जाकर पीटने लगी। उसके बाद मुझे अंजलि से बात करवाया।

दोस्त के पास पुणे चली गई
फिर मैंने अंजलि से कहा कि मुझे अपने दोस्त के पास पुणे जाना है। उसने मुझे इजाजत दे दी। मैं पुणे चली गई। उसके बाद मैं उसके साथ तीन-चार दिन तक रही। इस दौरान हमारे शारीरिक संबंध भी बने और वह मुझसे शादी करने के लिए कहने लगा। लेकिन मैंने उसे कभी नहीं बताया कि मैं गलत काम करती हूं। लेकिन फिर मैं वापस गोवा चली गई। उसके बाद राहुल वहां मुझे धमकाने लगा कि अगर मेरे कहे अनुसार नहीं करोगी तो मैं तुम्हें मार दूंगा। फिर कुछ दिनों बाद मैंने राहुल से कहा कि मेरा दोस्त यहां पुणे से मिलने आ रहा है। इस पर राहुल ने कहा कि मैं पुणे जा रहा हूं, उसका नाम और पता दो मैं उसे लेते आऊंगा।

मेरा दोस्त आ गया
मेरा दोस्त गोवा आ गया। लेकिन उसने राहुल को मेरा चार्ज और नंबर लिखते हुए देखा लिया। उसके बाद मुझसे पूछा कि तुम कुछ गलत तो यहां नहीं करती हो। उसके बार-बार पूछने पर मैंने सच बता दिया। तो उसने बोला कि अब ऐसा कोई काम नहीं करना जो गया सो हो गया। मैं तुमसे शादी करूंगा। फिर राहुल ने हम दोनों को पुणे छोड़ दिया। उसके बाद उसने कहा कि चलो भोपाल वहां मैं तुम्हें अपनी मम्मी-पापा से मिलवाऊंगा। हमलोग राहुल के कार से ही भोपाल आ गए।

उसके मम्मी-पापा से मिली
भोपाल आने के बाद मेरे दोस्त ने अपने माता-पिता से मिलवाया और कहा कि मैं इससे शादी करना चाहता हूं। उसके बाद उनलोगों ने मेरे बारे में जानकारी ली। फिर मैं उसके घर में ही रुकी। इसी दौरान राहुल ने मेरे दोस्त के माता-पिता को फोन कर मेरी शिकायत कर दी कि वे लोग पुणे नहीं गए हैं अभी भोपाल में ही हैं। इस झूठ का खुलासा हो गया। फिर वह अपने मुझे दूसरे दोस्त के घर में जाकर रखा दिया। उसके बाद मेरे दोस्त ने अपने माता-पिता को बताया कि मैं पुणे जा रहा हूं। लेकिन वे नहीं माने और उसके माता-पिता ने उसे घर में बंद कर दिया।

मैं मर जाऊंगी
मैं अपने दोस्त के दोस्त के घर में रह रही थी। उनसे बोला कि अगर मुझे उससे नहीं मिलने दिया गया तो मैं मर जाऊंगी। फिर मुझे उनलोगों ने बुलाया और कहा कि जब तुम्हारी उम्र अठारह वर्ष हो जाएगी तो शादी करवा दूंगी। उसके बाद मैंने गोवा वाले राहुल को फोन मिलाया तो उसने कहा कि इंदौर में हूं, तुम इंदौर आ जाओ। मैं वहां चली गई।

वहां से ले गया देहरादून
फिर राहुल अन्य लड़कियों के साथ मुझे देहरादून लेकर चला गया। फिर मुझे वहां ले जाकर वह एक पति-पत्नी के हवाले कर दिया। वे लोग भी हमसे मसूरी के होटलों में भेज धंधा करवाने लगे। एक दिन मेरे दोस्त का फोन आया कि तुम कहां हो मेरे पास भोपाल आ जाओ। मैं उससे झूठ बोली कि मैं मुंबई में अपने मॉडल दोस्त के पास हूं, तो उसने कहा कि तुम नहीं आई तो मैं मर जाऊंगा। फिर मैं ट्रेन पकड़ भोपाल आ गई। फिर वह अपने दोस्त के कोलार में स्थित फ्लैट में ले गया। जहां मैं एक सप्ताह तक रूकी और अपना बर्थडे सेलिब्रेट किया।

राहुल का फोन आया दिल्ली जाओ
उसके बाद राहुल का फोन आया कि तुम्हें दिल्ली जाना है, उसके दिल्ली के एजेंट ने फ्लाइट का टिकट भेज दिया। वहां मुझे सिद्धार्थ ने रिसीव कर अपने गर्लफ्रेंड के घर ले गया। वहां भी वह अगले दिन से मुझसे गलत-गलत काम करवाने लगा। उसके बाद परेशान होकर मैंने बिना किसी को बताए फिर भोपाल आ गई। उसके बाद मेरे दोस्त ने भोपाल स्टेशन से मुझे रिसीव करने अपने दोस्त के घर ले गया। हमलोग उसी फ्लैट में पति-पत्नी की तरह रहने लगे। इस दौरान वहीं मैं एक जिम में रिसेप्सनिस्ट की तरह काम करने लगी।

वह उठाने लगा जिम्मेदारी
बाद मैंने जॉब छोड़ दी, उसके बाद मेरा दोस्त ही पूरी जिम्मेदारी उठाने लगी। एक दिन हमदोनों के बीच किसी बात को लेकर झगड़ा हो गया। उसने अपनी बायीं बांह काट ली। मैं जेके हॉस्पिटल कोलार ले गया, जहां उसे 22 टांके लगे। उसके बाद उसके दोस्तों ने संकल्प के माता-पिता को यह जानकारी दी कि किसी ने इसे चाकू मार दिया है। फिर वे लोग अस्पताल पहुंच गए। मैं अपनी मॉडल फ्रेंड के घर चली गई।

बाद में फिर चली गई मुंबई
उसका दोस्त अब सलोनी से दूर हो गया था। एक दिन वह अपनी पूरी आपबीती मॉडल दोस्त के सहयोगी को बताई। सहयोगी ने उसे समझाने के बाद फिर से अपने साथ मुंबई लेकर चली गई। अंजू की आपबीती सुन उसकी मां से उसकी बात कराई और पूरी कहानी बताई। उसके बाद वे लोग उसे घर बुलाए। मुंबई से उस महिला ने सलोनी के लिए जबलपुर तक के टिकट करा दिए। जबलपुर एयरपोर्ट उसे रिसीव करने के लिए उसकी मां और मामा मौजूद थे। फिर लोग उसे नानी के घर ले गए।

जबलपुर जीआरपी में की शिकायत
सलोनी अपने परिजनों के साथ आकर जबलपुर जीआरपी में भोपाल की महिला अंजलि के विरुद्ध शिकायत दर्ज करवाई। जिसमें उसने पूरी कहानी बयां की और किन-किन शहरों में उसे घुमाया गया, इसकी भी पूरी जानकारी पीड़ित सलोनी ने पुलिस को दिए।

VIDEO: हनी ट्रैप मामले में नया खुलासा, कई राज्यों के नेताओं और केन्द्रीय मंत्री के इन महिलाओं से संबंध का खुलासा 

Previous article

MRI स्कैनिंग मशीन के अंदर मरीज को डालकर भूल गए डॉक्टर और फिर हुआ ये…

Next article

You may also like

More in Crime

Comments

Comments are closed.