अब बंदोबस्त में लगे जवानों के लिए `मील्स ऑन व्हील्स`

हर बार ये मामला उठाया जाता रहा है कि मुंबई पुलिस बेहद तनाव में रहती है। और इन दिनों अक्सर जवान बीमार पड़ते रहते हैं। हालत इतनी खराब हो चुकी है कि इन दिनों मुंबई पुलिस के आधे से ज़्यादा जवान कई गंभीर बीमारियों से ग्रसित हैं। इसकी कई वजह भी सामने आ रही हैं, जिसमे सबसे अहम है तय समय से ज़्यादा समय तक ड्यूटी पर रहना। ड्यूटी पर बाहर रहते हुए ये जवान जल्दबाज़ी के चक्कर में सड़क पर यहाँ वहां कुछ भी खा लेते हैं। जिससे इनके सेहत पर गंभीर असर पड़ रहा है। जिसकी वजह से पुलिस वालों में मधुमेह, उच्च रक्तचाप और दूसरी गंभीर बिमारियों की शिकायतें बढ़ गयी हैं।

अब जवान बीमार न हो हो और बंदोबस्त पर रहते हुए भी उन्हें सड़क पर कुछ भी न खाना पड़े इसके लिए अब खुद मुंबई पुलिस कमिश्नर सामने आये हैं। उन्होंने ये सुनिश्चित करने कि कोशिश कि है कि बहार ड्यूटी के समय जवान अपना खाना भी खाएं और स्वस्थ भी रहे। अब मुंबई पुलिस कमिश्नर डी डी पडसलगीकर ने बंदोबस्त पर तैनात अपने जवानों के लिए साफ़-सुथरा और हेल्दी खाने मुहैया कराने के लिए नयी तरकीब ढूंढ निकाली है।

‘मील्स ऑन व्हील्स’ यानी जवान जहाँ तैनात होंगे खाना चलकर उनके पास जाएगा। पुलिस कमिश्नर डी डी पडसलगीकर का आईडिया है मोबाइल कैंटीन, जिससे जवानों को घर जैसा खाना वक़्त पर मिल सके। ‘मील्स ऑन व्हील्स’ तैयार करने के लिए मुंबई पुलिस के उन पेट्रोलिंग वैन का इस्तेमाल किया जा रहा है जो  6 साल पुराने हो चुके हैं और जिनका इस्तेमाल अब पेट्रोलिंग के लिए नहीं होता है।

इसे ख़ास तरीके से तैयार किया गया है। इन मोबाइल कैंटीनों में एक साथ 8 लोगों के बैठकर खाने की व्यवस्था है। इसके इलावा वैन में गैस चूल्हा, गैस सिलिंडर, बेसिन और पानी की टंकी लगायी गयी है।
 
आईडिया है कि अब जहा भी बंदोबस्त में मुंबई पुलिस के जवान तैनात होंगे, वंहा इस कैंटीन को ले जाकर लगा दिया जाएगा। ताकि जवानों को समय पर स्वच्छ खाना पानी मिल सके और ये जवान पूरी मुश्तैदी के साथ अपना काम करें। 


Close Bitnami banner
Bitnami