अब भिवंडी में जानलेवा बना पॉटहोल, गिरकर 1 बच्चे की हुई मौत

कुछ दिन पहले गड्ढे में गिरने से मुंबई की महिला बाइकर जागृति की मौत हो गई थी । अभी उनके परिवार के आंसू सूखे भी नहीं थे की एक बार फिर सदाप पर जानलेवा गड्ढों की चपेट में आकर पंद्रह साल के एक स्कूली छात्र की मौत हो गई है । छात्र अपने घर से कोचिंग क्लास के लिए निकला था तभी सड़क पर अचानक गड्ढे से बचने के चक्कर में बाइक फिसली और वो सीधे ट्रक के छक्कों के नीचे आ गया। इससे पहले की उसे अस्पताल पहुंचाया जा सकता उसकी मौके पर ही मौत हो गई है। इस घटना के बाद अब पूरा शहर सरकार और प्रशासन से सवाल कर रहा है की क्या सरकार को उनकी कोई फिक्र नहीं है । हर रोज़ इन गड्ढों की वजह से मौतें हो रहीं और सब खामोश खड़े होकर तमाशबीन बने हैं।

घटना मुंबई से चंद किलोमीटर दूर भिवंडी की है। जहाँ सुबह 7 बजे दसवीं का छात्र धीरज अमर जामकर अपने मित्र के साथ मोटरसाइकिल से कोचिंग क्लास के लिए निकला था। तभी अचानक उनकी मोटरसाइकिल गड्ढे में अटक गयी और कंट्रोल न कर पाने की वजह से फिसल गयी। धीरज बाइक से दूर जा गिरा और तभी सामने से आ रहे ट्रक की चपेट में आ गया। हालांकि इस हादसे के बाद पुलिस ने मामला दर्ज कर ट्रक ड्राइवर को गिरफ्तार कर लिया है। 

लेकिन परिवार का सवाल है की जब हादसा सड़क पर बने गड्ढे की वजह से हुई है तो केस सिर्फ ट्रक ड्राइवर के खिलाफ ही क्यों ? मामला नगरपालिका के अधिकारियों के खिलाफ भी होनी चाहिए, जिनकी वजह से पूरा शहर आज गड्ढों में तब्दील हो गया है। उनकी मांग है की दोषी अधिकारियों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज हो। तब जाकर उनके बेटे को इंसाफ मिलेगा। धीरज अमर जामकर अपने माँ बाप का एकलौता बेटा था । उसके पिता अमर जमकार शहर के नामी फोटो जर्नलिस्ट हैं। 

वरिष्ठ पत्रकार मुनीर मोमिन की मानें तो, आज इस हादसे की वजह से कहीं न कहीं  मनपा अधिकारी भी ज़िम्मेदार हैं । आज पूरे भिवंडी शहर की सडकों की हालत बेहद खराब हो गई है। जीसकी वजह से लोगों को कई तरह की परेशानी उठानी पड़ रही है। बारिश के चलते सड़कों पर जहाँ तहँ बड़े बड़े गड्ढे बन गए हैं । जिसकी वजह से हर रोज़ कोई न कोई हादसे का शिकार हो रहा है ।  

 


Close Bitnami banner
Bitnami