अब मुंबई की सड़कों पर दौड़ेगी मोटरसाइकिल वाली एम्बुलेंस

इमरजेंसी के वक़्त लोगों प्राथमिक उपचार में देरी न हो इसके लिए महाराष्ट्र सरकार ने मुंबई की सड़कों पर बाइक एम्बुलेंस उतार दिया है। इसके पीछे सरकार का मकसद सिर्फ और सिर्फ इमरजेंसी के वक़्त लोगों का सही समय पर प्राथमिक इलाज मिल सके। कई बार ऐसा होता है की पीड़ित एम्बुलेंस के इंतज़ार में ही दम तोड़ देता है। लेकिन इस तरह की सेवा से ऐसे मामलों में कमी आएगी।

स्वास्थ विभाग ने इस एम्बुलेंस सेवा के लिए एक टोल फ्री 108 नंबर भी जारी किया है। इमरजेंसी वक़्त यह एम्बुलेंस कुछ ही मिनटों के अंदर मौके पर पहुंचकर लोगों का प्राथमिक इलाज कर सकती है। बाइक एम्बुलेंस सेवा मुहैया कराने वाला महाराष्ट्र देश का चौथा राज्य बन गया है। इससे पहले गुजरात,तमिल नाडु, और कर्नाटक में लोगों के लिए ये सेवा पहले से चलायी जा रही है।

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस और शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने सेवा को हरी झंडी दिखाकर इसकी शुरुआत की। इस एम्बुलेंस की खास बात ये है की इसे चलाने वाला कोई आम नागरिक नहीं बल्कि एक पैरामेडिक डॉक्टर होंगे। जिन्हें  बाकायदा 7 दिनों की ट्रेनिंग दी गई है। इस एम्बुलेंस में तीन तरह के किट होंगे ट्रामा किट ,डिलीवरी किट और मेडिकल किट। यह एम्बुलेंस एमर्जेन्सी में कहीं भी डिलीवरी करने में भी शक्षम है। और पानी में डूबने और जलने पर प्राइमरी ट्रीटमेंट भी कर सकती है, इसके अलावा इस एम्बुलेंस में ऑक्सीजन मास्क , तरह तरह के इंजेक्शन और दवाईयां भी होंगे।  

मुंबई शहर सबसे भीड़भाड़ वाले शहर के तौर पर जाना जाता है। मुंबई में ट्रैफिक की समस्या भी अधिक है। जिसकी वजह से एम्बुलेंस घंटो सड़कों पर फँस जाती है जिसकी वजह से मरीज के इलाज में देरी हो जाती है। इसी समस्या से छुटकारा पाने के लिए सरकार ने बाइक एम्बुलेंस सेवा की शुरुवात की गई है।


Close Bitnami banner
Bitnami