अदालत में ख़ूब गिड़गिड़ाया फ़िरोज़ – बोला फाँसी नहीं उम्र क़ैद दो

16  जून को मुंबई के टाडा कोर्ट ने मुंबई 1993 के बम धमाकों पर सुनवाई करते 7 आरोपियों में से 6 को दोषी करार दिया है और एक आरोपी को बरी कर दिया है। मंगलवार से कोर्ट में दोषियों को कितनी सजा हो इस पर बहस शुरू होगी। इस बीच सीबीआई ने कोर्ट से 6 दोषियों में से 5 दोषियों के लिए फांसी की सजा कि मांग की है। इन पांच दोषियों में अबू सालेम का नाम शामिल नहीं है। अबू सलेम को पुर्तगाल से प्रत्यर्पण संधि के तहत भारत लाया गया था। इस संधि की शर्त के मुताबिक, सलेम को न तो फांसी दी जा सकती है, न ही उम्रकैद हो सकती है। उसे ज्यादा से ज्यादा 25 साल की सजा दी जा सकती है।

ये भी पढ़े :​

1993 बॉम्बे ब्लास्ट: CBI ने सलेम को छोड़कर 5 दोषियों के लिए मांगी फांसी

इस मामले में कोर्ट में आज दोषियों की सजा को लेकर सुनवाई थी। मामले दोषी पाया गया फ़िरोज़ खान कोर्ट में जज के सामने आज खुब रोया और गिड़गिड़ाया, कहा की साहब मुझे मौत की सजा मत दो। मुझे अपने किये गए गुनाहों पर पश्चाताप है। मुझे उम्र कैद की सजा दे दो मैं पूरी जिंदगी जेल में गुजारने को तैयार हुँ , लेकिन फांसी की सजा मत दो। मेरे बच्चों को इतना मालुम रहने दीजिये की उनका पिता जिन्दा है। 

मै अपने घर मे इकलौता कमाने वाला था। मेरे पिता नेवी से रिटायर हुए थे। उनका बाईपास होना था जिसके लिए पैसों की बहुत जरुरत थी।गिरफ्तारी के पहले मेरे दो छोटे बच्चे थे। मेरे पत्नी दुबई मेहंदी लगाने का काम करती थी और बच्चों की पढ़ाई के लिए पैसों की जरूरत है। दुबई की मीटिंग में मैं मौजूद था लेकिन हथियारों की ट्रेनिंग के लिए मुझे पाकिस्तान जाने को कहा गया था लेकिन मैंने मना कर दिया था।

आपको बता दें कि फिरोज खान पर बम ब्लास्ट के लिए ट्रांसपोर्ट मुहैया कराने और हथियारों को अलग-अलग जगहों पर पहुंचाने का आरोप है।जिसके लिए कोर्ट ने उसे दोषी ठहराया है।दोष साबित होने से पहले फ़िरोज़ खुद को हमजा बता कर गलत गिरफ्तारी की बात करता रहा था लेकिन आज पहली बार इसने खुद को फ़िरोज़ माना।

कोर्ट द्वारा दोषी करार दिए जाने के बाद फ़िरोज़ खान ने अपने वकील वहाब खान के जरिए चार एप्लिकेशन फाइल कीं। इनमें से एक में उन्होंने मुद्दे पर बहस के लिए उन्हें दो हफ्ते का वक्त मांगा, लेकिन जज ने उनकी यह मांग खारिज कर दी। इसके बाद उन्होंने कहा कि वे अपने मुवक्किल के हालत को लेकर तीन गवाह बुलाना चाहते हैं। इस पर जज ने कहा कि वे मंगलवार को ही अपने गवाह बुलाएं और उनसे जिरह शुरू करें।

ये भी पढ़े :​

1993 बॉम्बे ब्लास्ट केस में टाडा कोर्ट से अबु सलेम समेत 6 दोषी करार, एक बरी​


Close Bitnami banner
Bitnami