आखिर क्यों एक कॉल के बाद यहां वहाँ भागने लगी मुंबई पुलिस

गुरुवार सुबह मुंबई में आरपीएफ कंट्रोल रूम में धमकी भरी फ़ोन की ट्रिंग ट्रिंग घंटी बजती है। उस फ़ोन कॉल को आरपीएफ के कर्मचारी रिसीव करते है। उसके बाद फ़ोन कॉल करने वाले की बातों ने आरपीएफ पुलिस की नींद उड़ा दी। फ़ोन रखने के बाद कुछ ही मिनटों में आरपीएफ और जीआरपी पुलिस अचानक चर्चगेट रेलवे स्टेशन की और गश्त करती है।

देखते ही देखते पुलिस वहां पर जांच पड़ताल शुरू कर देती है।आने जाने वालों लोग और उनके सामानों की भी कड़ाई से जांच करने लगती है। पुलिस के इस रवैये से चर्चगेट स्टेशन रेलवे स्टेशन पर अचानक अफरातफरी मच जाती है। लोगों को भी किसी अनहोनी का डर सताने लगा। देखते ही देखते मुंबई पुलिस की तमाम विंग यानी एंटी टेररिस्ट स्क़ॉड, डॉग स्क़ॉड , बम डिस्पोजल स्क्वाड(बीडीएस) की टीम भी चर्चगेट रेलवे स्टेशन पर पहुँच जाती है। जांच पड़ताल में जुट जाती है।

दरअसल फ़ोन करने वाले शख्स ने मुंबई के चर्चगेट  रेलवे स्टेशन को बम से उड़ाने की धमकी दे दी थी। उसके बाद पुरे स्टेशन में अतिरिक्त सुरक्षा बल तैनात कर दी गयी थी।धमकी के बाद मुंबई पुलिस की तमाम विंग स्टेशन की जांचपड़ताल में जुट गयी थी। लेकिन उनके हाथ कोई भी आपत्तिजनक सामान नहीं लगा है।

पुलिस का कहना है कि, फोन पर दी गई धमकी झूठ भी हो सकती है। हम फ़ोन कॉल करने वाले शख्स की जांच कर रहे है। लेकिन अमरनाथ यात्रियों पर हुए हमले के बाद ऐसे फ़ोन कॉल को नज़रअंदाज़ भी नहीं किया जा सकता है।देश में हाई-अलर्ट है इसलिए ऐसी किसी भी धमकी को हल्के में नहीं लिया जा सकता।


Close Bitnami banner
Bitnami