अपनी अटैची यूं ले यहां पहुंचे अरविंद केजरीवाल, दस दिन का है पूरा प्रोग्राम

दिल्ली के सीएम और आम आदमी पार्टी नेता अरविंद केजरीवाल मन शांति के लिए नासिक के इगपतपुरी पहुंचे हैं। वे यहां पर दस दिन तक विपश्यना करने वाले हैं। सोमवार को वे विपश्यना इंटरनेशनल अकादमी पहुंचे। जानकारी के मुताबिक विपश्यना केंद्र में न अखबार पढ़ सकेंगे और न टीवी देख सकेंगे और न ही मोबाइल का इस्तेमाल कर सकेंगे। केजरीवाल के साथ दो महिला साधक भी आईं हैं। डेढ़ साल पहले भी की थी विपश्यना….
-नासिक से एसपी संजय दराडे के मुताबिक केजरीवाल सोमवार को इगतपुरी स्थित विपश्यना केंद्र पहुंचे। वे यहां पर दस दिनों तक रहेंगे।
-इन दस दिनों में वे किसी से संपर्क नहीं कर सकेंगे। बताया जाता है कि, केजरीवाल मनशांति के लिए यहा आए हैं।
-केजरीवाल के साथ दो महिला साधक भी विपश्यना के लिए पहुंची है। उन्हें महिला कक्ष में जगह दी गई है।
-वहीं केजरीवाल के लिए पैगोडा क्रमांक दो के पास तीन नंबर कक्ष में साधना का प्रबंध किया गया है। केजरीवाल को अन्य साधकों को तरह ही यहां पर सुविधा मिलेगी।
-केजरीवाल सोमवार को दिल्ली से फ्लाइट से मुंबई एयरपोर्ट पहुंचे और वहां से मुंबई आगरा हाईवे से होकर दोपहर 4 बजे इगतपुरी पहुंचे।
-विपश्यना केंद्र के प्रबंधक सावला ने उनका स्वागत किया। 20 मिनट तक चर्चा के बाद केजरीवाल ने कार से अपना बैग खुद उठाया और अपने कक्ष में चले गए।
-वें यहां पर 20 सिंतबर तक विपश्यना करेंगे। 20 मिनट की चर्चा में उन्होंने कोई भी राजीनीतिक बयान नहीं दिया है।
– उनके करिबियों के मुताबिक राजनीतिक हलचलें और जनसेवा से पैदा हुआ तनाव से मानसिक संतुलन और स्वास्थ्य बनाए रखने के लिए, एनर्जी मिलने के लिे केजरीवाल विपश्यना कर रहे हैं।
-उनकी अनुपस्थिति में डेप्युटी सीएम मनीष सिसोदिया सरकार का कामकाज देखेंगे।
केजरीवाल का विपश्यना से पुराना नाता
-सूत्रों के अनुसार, अरविंद केजरीवाल का विपश्यना से पुराना नाता है। वे पहले भी कई बार यहां आ चुके हैं।
– जब वह राजनीति में नहीं थे, सूचना के अधिकार कानून पर काम रहे थे, तभी से वह और उनके साथी मनीष सिसोदिया ध्यान योग के लिए अलग-अलग जगहों पर विपश्यना शिविरों में जाते रहे हैं।
– केजरीवाल खुद को नई ऊर्जा से भरने के लिए हर साल विपश्यना करते हैं। इससे पहले वह हिमाचल प्रदेश के धर्मशाला गए थे।
SOURCE DAINIK BHASKAR

Close Bitnami banner
Bitnami