ईरान की संसद पर बड़ा हमला, 3 हमलावर अंदर घुसे

ईरान की संसद समेत देश के तीन बड़े स्थानों पर सिलसिलेवार हमला हुआ है। बुधवार को 3 आत्मघाती हमलावर संसद परिसर में घुस गए और गोलीबारी शुरू कर दी। इसमें एक गार्ड की मौत हो गई है। खबरों में बताया जा रहा है कि संसद पर हुए हमले में 7 लोग मारे गए हैं और 4 लोगों को बंधक बनाया गया है, हालांकि इस जानकारी की पुष्टि नहीं हो सकी है। ईरानी संसद के साथ ही दक्षिणी तेहरान के इमाम खमैनी मकबरे पर भी हमला किया गया। यहां एक आत्मघाती हमलावर ने खुद को उड़ा दिया। स्थानीय मीडिया के मुताबिक, खुद को उड़ाने वाली यह हमलावर एक महिला थी। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, खमैनी मकबरे पर हमला करने वाले 3 लोग थे। इनमें से एक आत्मघाती हमलावर ने खुद को उड़ा लिया और बाकी 2 हमलावरों को सुरक्षाकर्मियों ने जिंदा गिरफ्तार कर लिया, लेकिन बाद में इनमें से एक ने सायनाइड खाकर अपनी जान दे दी। सेंट्रल तेहरान के इमाम खमैनी मेट्रो स्टेशन पर भी धमाके की आवाज सुनी गई है। धमाके के कारणों का पता नहीं चल पाया है।

ताजा खबरों के मुताबिक, हमले के बावजूद ईरान की संसद में सामान्य तरीके से कामकाज चल रहा है। लोकल मीडिया का कहना है कि संसद सत्र फिर शुरू हो गया है। हमले के बावजूद नैशनल रेडियो पर संसद सत्र का सीधा प्रसारण किया जा रहा है।

दरगाह के अंदर आत्मघाती हमलावर द्वारा खुद को उड़ाए जाने के समय की तस्वीर…

स्थानीय मीडिया तंसीम के अनुसार ईरानी संसद में घुसे बंदूकधारियों की संख्या 3 हो सकती है। प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि पत्रकारों के जोन में अचानक गोलीबारी शुरू हुई थी। तंसीम के रिपोर्टर ने बताया कि सांसदों को संसद हॉल में लॉक कर दिया गया था। अब तक मिलीं रिपोर्ट्स के मुताबिक तीन हमलावरों ने संसद में हमला किया है। उनमें से दो के पास AK-47 रायफल था। तीसरे शख्स के पास हैंडगन था।

खमैनी मकबरे के पश्चिमी हिस्से में यहीं पर आत्मघाती हमलावर महिला ने खुद को उड़ा लिया…

ईरानी सेना ने भी रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू कर दिया है। गोलीबारी में मारे गए गार्ड के शव को भी संसद परिसर से बाहर निकाल लिया गया है। स्थानीय मीडिया की खबरों के अनुसार इस फायरिंग में करीब आठ और लोग भी घायल हुए हैं। घायलों मे 2 विजिटर बताए जा रहे हैं। स्थानीय न्यूज एजेंसी मेहर ने सांसद इलियास हजरती के हवाले से यह जानकारी दी है। तेहरान में भारत के राजनयिक सौरभ कुमार ने बताया कि संसद पर हुए हमले में सभी भारतीय सुरक्षित हैं। उन्होंने कहा कि खमैनी के मकबरे पर हुए हमले के हताहतों की उन्हें जानकारी नहीं है।


Close Bitnami banner
Bitnami