भायखला की ईमारत में दिखी दरार,बड़ा हादसा होने से टला

10 दिन पहले ही मुंबई के घाटकोपर के दामोदर पार्क इलाके में ईमारत के गिरने से 17 लोगों की मौत हुई हो गई थी। और दर्जनों लोग घायल हुए थे। अब कुछ इसी तरह का मामला भायखला से  सामने आया है। जहाँ अचानक एक ईमारत में दरार पड़ने लगी देखते ही देखते वहां भगदड़ का माहौल बन गया , लेकिन इससे पहले की कोई बड़ा हादसा हो पाता वहां रहने वाले लोगों को सही सलामत बाहर निकाला लिया गया ।

जानकारी के मुताबिक़, इमारत 70 साल पुरानी है और दरारों की वजह से पूरी तरह झुक गई है। वहां रहने वाले लोगों के मुताबिक़ कल शाम अचानक ईमारत एक तरफ झुकने लगी थी और कई फ्लैट्स के प्लास्टर निकलने लगे । तब तक लोगों को ये समझ आ गया था की इमारत में कभी भी कोई हादसा हो सकता है 
फ़ौरन वहां रहने वाले पांच परिवार इमारत से बाहर आ गए और इसकी खबर फायर ब्रिगेड और बीएमसी को दी गई।

मामले की जानकारी मिलते ही, महाराष्ट्र हाउसिंग एंड डेवलपमेंट अथॉरिटी की एक टीम को उस 2 मंजिला ईमारत की निरीक्षण के लिए भेज दिया गया। निरीक्षण के बाद ये सामने आया की फिलहाल ईमारत में रहना खतरनाक साबित हो सकता है। वहां रहने वाले लोगों के घर खाली कर दिए गए हैं और उसकी मरम्मत का काम शुरू कर दिया गया। अधिकारियों ने बताया की जो हिस्सा मरम्मत नहीं हो सकता उसे तोड़ दिया जाएग।

यह 2 मंजिला ईमारत भायखला स्टेशन के पास है और इसमें लगभग 55 परिवार रहते हैं। बीएमसी अधिकारियों का कहना है कि, एक बार फिर से इस इमारत का ऑडिट किया जाएगा और उसके बाद ही ये तय किया जाएगा ये रहने लायक है या नहीं।

 

Close Bitnami banner
Bitnami