चरसी हैं नागपुर के चूहे

महाराष्ट्र के नागपूर से हैरान करने वाली खबर है। खबर ये है की नागपुर में चूहों को नशे की लत लग गयी है , वो चरस-गांजे के साथ साथ शराब के भी आदि हो गए हैं। ये हम नहीं कह रहे हैं बल्कि नागपुर रेलवे पुलिस के रही है।

जीआरपी थाना कह रहा है की हर महीने ये चूहे 25 लीटर शराब पीते हैं तो 30 किलोग्राम गांजा खाते हैं। उनको ऐसी आदत लगी है की वो चाँद महीनो में मालखाने में रखा हज़ारों लीटर शराब पी गए हैं,और तो और सीज़ किया हुआ करीब २०० किलो गांजा भी चट कर गए हैं। बाकायदा थाने के हिसाब-किताब में चूहों के नाम पर नुकसान दर्ज किया जा रहा है। 

लेकिन आला अफसरों को अधिकारियों की ये बात हज़म नहीं हो रही है। उन्हें शक है की ये दूसरे तरह के चूहे हैं जो सरकारी ख़ज़ाने में सेंधमारी कर रहे हैं।  अब इस मामले में लोगों से अलग अलग तरीके से पूछताछ कर जानकारी जुताई जा रही है ताकि असलियत सामने आ सके। 

चूहे हर महीने पी रहे हैं 25 लीटर शराब आैर खा रहे 30 किलो गांजा!

वहीँ थाने के अधिकारियों के मुताबिक़, यात्रियों द्वारा स्टेशन परिसर में फेंके गए खाने पर पलने वाले चूहों ने अब जीआरपी थानों की ओर रुख किया है। इन चूहों की नज़र से मालखाने में जमा गांजा -शराब उनकी नजरों से बच नहीं पाई। ये चूहे हर रोज गांजा खाकर व शराब पीकर नशेड़ी बन गए हैं। इनकी हिम्मत तो कुछ इस कदर बढ़ी है कि डरते भी नहीं हैं। कई बार काम करते करते इन्हें एहसास होता है की चूहों ने इनको काट खाया है।  सामने कोई भी रहे, उल्टे टकटकी लगाकर ऐसे देखते हैं कि सिपाही भयभीत हो जाएं। अब इन चूहों से सिपाही डरने लगे हैं। इतना ही नहीं इनकी वजह से थाने में रखा रिकॉर्ड भी बर्बाद हो रहा है। 

चूहे हर महीने पी रहे हैं 25 लीटर शराब आैर खा रहे 30 किलो गांजा!


Close Bitnami banner
Bitnami