देखें कैसे ताश के पत्तों की तरह ढह गयी इमारत

आज मुंबई की सुबह बेहद दर्दनाक रही। लोगों ने अब तक ठीक से अपनी आँखें भी नहीं खोलीं थी की दक्षिण मुंबई के डोंगरी इलाके में एक इमारत ढह गई। 117  साल पुरानी इस इमारत में करीब 10 से 12 परिवार रहता था। हादसे के बाद अब तक 22 लोगों ज़िंदा निकला गया है जबकि 11 की मौत की पुष्टि हो चुकी है. ये आंकड़ा और भी बढ़ सकता है क्यूंकि अब भी कई ऐसे हैं जिनका कोई अता पता नहीं चल पाया है।

देखिये इस हादसे के पल पल की तस्वीर: 

हादसा करीब 8.30 बजे हुआ है. अब तक 11 लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि 22 लोग गंभीर रूप से घायल हैं। अभी भी करीब 35 लोगों के मलबे में फंसे होने की आशंका है।

बीएमसी ने बारिश शुरू होने से पहले ऐसी 186 बिल्डिंगों को गिराया था।

घायलों को जेजे अस्पताल में भर्ती कराया गया है। अब तक मलबे में दबकर घायल हुए 12 लोगों को अस्पताल ले जाया जा चुका है। इनमें से पांच की हालत गंभीर है।

 

फायर ब्रिगेड की 10 गाड़ियां मौके पर हैं। स्थानीय लोग भी राहत एवं बचाव के काम में एजेंसियों की मदद कर रहे हैं।

एनडीआरएफ टीम घटना स्थल पर पहुंची, मलबे में 35 लोगों के फंसे होने की आशंका, राहत और बचाव कार्य जारी है।

 

चौथी मंजिल पर मौजूद थे लोग, बताया जा रहा है कि इस जर्जर इमारत में दो-तीन परिवार रह रहे थे।

पुननिर्माण स्कीम के तहत इस बिल्डिंग का रेनोवेशन होना था ।

अब तक मलबे से 8 लोगों को बचाया गया है।

बीएमसी कमिश्नर अजेय मेहता ने किया घटना स्थल का दौरा।


Close Bitnami banner
Bitnami