देखिये क्या हुआ ? महाराष्ट्र के औरंगाबाद में जब अचानक बरसने लगे नोट

देश मे नोट बंदी के दौरान 500 और 1000 के नोट फेके जाने के कई मामले सामने आए थे। प्रशासन की कार्यवाही के डर से कोई बोरियों में भर कर नोट को कचरे के डिब्बे में फेक देता , तो कोई गंगा नदी में नोटों को बहा देता ,तो कभी नोट से भरे थैले पेड़ पर टंगे मिल जाते थे। लेकिन वो नोट जो फेके जाते थे वो तो पुराने थे और बंद भी हो चुके थे। इसलिए कोई भी आदमी 500 और 1000 के पड़े पुराने नोटों को उठाता भी नही था। लेकिन जब आपको कभी 500 और 2000 के बोरियां भरके नए नोट पड़े मिले तो आप क्या करेंगे? जाहिर है सबसे पहले आप उस नोट को अपने जेब मे भरना चाहेंगे।

सोमवार की सुबह ऐसा ही कुछ हुआ महाराष्ट्र के औरंगाबाद में, शहर के एमआईडीसी इलाके में सड़क के किनारे 500 और 2000 के नए नोट बिखरे पड़े थे। नोट भी इस तरह बिखरे थे जैसे किसी बगीचे में पेड़ के पत्ते बिखरे हो। सुबह सुबह जब लोगों की नज़र उस नोट पर पड़ी, फिर देखते ही देखते लोग थैली और झोले लेकर इधर उधर भागने लगे। सड़क से आते जाते लोग भी अपनी अपनी गाड़ियों से थैली लेकर उतरने लगे। कुछ समय बाद एमआईडीसी की सड़क पर काफी भीड़ इकट्ठा हो गई। पुलिस को भी एमआईडीसी की सड़क पर भीड़ इकट्ठा होने की जानकारी मिली तो पुलिस भी अपने दल बल के साथ वहां पहुंच गई।

सब के दिल मे यही चाहत थी जितना हो सके उतना नोट भरकर अपने घर ले जाये। जब लोग उस जगह पहुंचे तभी उनके मन मे सुकून दिखा लेकिन वो सिर्फ कुछ समय के लिए ही था। लेकिन उन्हें निराशा तब हुई जब लोगों ने नोट को करीब से देखा। सभी के सभी नोट नकली थे और किसी ने रात में नकली नोट फेंक कर लोगों की फिरकी ली थी। पुलिस को भी भनक लग गई औऱ पुलिस भी मौके पर पहुंची तो सभी नोट नकली मिले। तब तक भीड़ धीरे-धीरे वहां से मुंह छिपाए निकलने लगी थी।पुलिस मामला दर्ज कर अब नकली नोट फेंके जाने की तहकीकात कर रही है कि आखिर इतनी बड़ी संख्या में यहां नकली नोट किसने फेंके और ये नोट आखिर कहां बने।

देखे तसवीरें 

 


Close Bitnami banner
Bitnami