देखते ही देखते सड़क जलकर खाक हुई बीएमडब्लू

नागपुर में ड्राइवर रमेश घर से बीएमडब्लू कार लेकर अपने डॉक्टर मालिक को लाने के लिए निकले थे। मज़े से वो रेडियो पर गाना सुनते जा रहा था। अचानक वो हुआ जिसकी उसने कभी उम्मीद भी नहीं की थी। उसे ये नहीं पता था की इतनी महंगी कार उसकी जान के लिए आफत बन जायेगी। रमेश अभी आधे ही रास्ते पर पहुंचा था की अचानक कार में आग लग गई। इससे पहले की वो बहार निकल पाता​ आग ने भीषण रूप ले लिया। किसी तरह वो लोगों की मदद से अपनी जान बचा पाया।

घटना मंगलवार रात 9 बजे की है। ड्राइवर रमेश मालिक डॉक्टर सुधीर नेरल को लाने के लिए घर से निकला था। वो नागपुर शहर के अलंकार टॉकीज के पास रेड सिग्नल पर खड़ा था और सिग्नल ग्रीन होने का इंतज़ार कर ​ रहा था। लेकिन सिग्नल ग्रीन होने के पहले ही अचानक बीएमडब्लू एम.एच.31-बी.सी. 007 में से धुआं निकलने लगा। देखते ही देखते धुआं आग में बदल गया और रमेश गाडी में ही फँस गया। तब तक लोग भी गाडी के आस पास जमा हो गए और उन लोगों ने किसी तरह दरवाज़ खोलकर रमेश को बहार निकाला ​। जैसे ही वो रमेश बाहर ​ आया आग और बड़ी हो गई। देखते ही देखते गाडी कुछ देर में जलकर खाक हो गयी। ड्राइवर रमेश ने इसकी सूचना तुरंत फायर बिर्गेड और अपने मालिक सुधीर नेरल को दी।

फायर ब्रिगेड को सूचना मिलते ही मौके पर दमकल विभाग की एक गाडी पहुंची। फायर ब्रिगेड के कर्मचारी ने काफी मशक्कत के बाद आग को बुझाया। घटना के बाद  डा. नेरल ने बताया कि हादसे में किसी को हानि नहीं पहुंची है। उन्होंने कहा कि बीएमडब्ल्यू जैसी गाड़ी में आग लगना आश्चर्य की बात है।


Close Bitnami banner
Bitnami