एक पत्नी और उसकी 9 साल के संघर्ष की पूरी कहानी

मालेगांव ब्लास्ट केस में आरोपी लेफ्टिनेंट कर्नल श्रीकांत पुरोहित सुप्रीम कोर्ट से जमानत मिलने के बाद नवी मुंबई के तलोजा जेल से जमानत पर रिहा हो गए हैं। उनकी रिहाई पर उनके पुणे स्थित घर पर खुशी का माहौल है। मंगलवार देर रात पड़ोसी उनके घर पहुंचे और उनके परिजनों को शुभकामनाएं दी। बता दें कि, कर्नल पुरोहित का पैतृक घर पुणे के यरवदा इलाके में है। इस घर में उनकी मां, पत्नी और उनके दो बच्चे रहते हैं। 
 
पड़ोसियों के साजिश का शिकार बने पुरोहित..
 
Image result for Col Purohit and wife Aparna
 
 
 उनके पड़ोस में रहने वाली भाग्यश्री हार्डिकर ने बताया कि, वे पुरोहित परिवार को पिछले 30 साल से जानते हैं। उन्हें उम्मीद है कि प्रसाद पुरोहित निर्दोष हैं। उन्होंने बताया कि, कर्नल पुरोहित का बर्ताव हमेशा से काफी अच्छा रहा है।
– उन्होंने उनकी वाइफ के नेचर की तारीफ करते हुए कहा कि, उनकी वाइफ हमेशा से स्ट्रांग रही हैं। उन्होंने कभी दिखाया नहीं कि वे किसी तरह से परेशान हैं।
– कर्नल पुरोहित के घर बधाई देने पहुंचे एक पड़ोसी कमल हार्डिकर ने कहा कि, “पुरोहित ने जो कुछ भी किया वह देश के लिए किया। वे पॉलिटिक्स का शिकार हुए हैं। वे ऐसा कभी नहीं कर सकते। ऐसा गलत काम वे कभी नहीं कर सकते हैं। मैं उन्हें बचपन से जानता हूं। वे हमेशा से दूसरों की हेल्प करते रहे हैं। उन्हें पहले ही जमानत मिलनी चाहिए थी।”
– बता दें कि पुणे के यरवदा इलाके में बने कर्नल पुरोहित के घर का नाम सुस्मृति है। इसे उनके पिता ने बनवाया था। कर्नल पुरोहित का बचपन भी इसी घर में बीता।
 
पत्नी को छोड़नी पर डॉक्टरी की प्रैक्टिस
– कर्नल पुरोहित की पत्नी अपर्णा पुरोहित पेशे से डॉक्टर हैं और वह अपने दो बेटों और सास के साथ पुणे स्थित अपने बंगले में रहती हैं। 
– पति को मिली जमानत पर कर्नल पुरोहित की पत्नी अपर्णा पुरोहित ने कहा ,”मुझे इस बात से राहत है कि प्रसाद हमारे नौ साल के संघर्ष के बाद आखिरकार घर पर होंगे। अब वह हमारे सामने होंगे और परिवार के साथ होंगे। लेकिन, न्याय के लिए हमारा संघर्ष भविष्य में भी जारी रहेगा।”
– उन्होंने आगे बताया कि, “मैं अदालत की सभी कार्यवाहियों में मौजूद रही हूं। फैसले को लेकर मैं बेहद व्यथित और डरी हुई थी। आरोप पत्र में उनका नाम देखकर हम बेहद सदमे में थे। इस सदमे से उबरने में मुझे और मेरे परिवार को काफी समय लगा।”
– अपर्णा आगे बताती हैं, “मेरा परिवार मेरी ताकत रहा है। उस वक्त हमने अपनी जिम्मेदारियां बांट ली थीं। मैंने प्रसाद के मुकदमे और अदालती मामलों पर अपना ध्यान केंद्रित किया। मेरी सास ने घर संभाल लिया और मेरी ननद ने हमारे खर्चो का बोझ संभाला इस केस की वजह से मुझे अपनी डॉक्टर की प्रैक्टिस छोड़नी पड़ी। हालांकि मेरे कुछ मित्रों ने मुझे इसे जारी रखने के लिए प्रोत्साहित किया।”
 
Image result for Col Purohit and wife Aparna
Related image
 
कौन हैं ले. कर्नल पुरोहित…
 
– लेफ्टिनेंट कर्नल पुरोहित महाराष्ट्रीयन ब्राह्मण परिवार से आते हैं और उनके पिता एक बैंक ऑफिसर रहे हैं। पुणे में जन्मे लेफ्टिनेंट पुरोहित की स्कूली शिक्षा अभिनव विद्यालय से हुई और कॉलेज की पढ़ाई उन्होंने गरवारे कॉलेज से पूरी की।
– साल 1994 में पुरोहित को चेन्नई स्थित ऑफिसर्स ट्रेनिंग एकेडमी से पासआउट होने के बाद मराठा लाइट इनफेंट्री में कमीशन मिला। इसके बाद वह जम्मू कश्मीर भेजे गए और यहां पर बीमार पड़ने के बाद उन्हें मेडिकल लेवल पर डाउनग्रेड कर दिया गया। इसके    बाद उन्हें यहां से मिलिट्री इंटेलीजेंस में शिफ्ट कर दिया गया। 
– साल 2002 से 2005 की शुरुआत की पुरोहित सेना की इंटेलीजेंस फील्ड सिक्योरिटी यूनिट एमआई-25 के साथ जुड़े और जम्मू कश्मीर में अहम काउंटर-टेररिज्म ऑपरेशंस का हिस्सा बने।
– पुरोहित को नासिक के देवलाली में लाइजन यूनिट ऑफिसर के तौर पर भेजा गया और इसी समय वह एक रिटायर्ड मेजर रमेश उपाध्याय के संपर्क में आए। उपाध्याय भी इस ब्लास्ट का आरोपी है और जेल में बंद है।
 
Image result for Col Purohit and wife Aparna
Image result for Col Purohit and wife Aparna
 
पुरोहित पर क्या है आरोप
– पुरोहित पर इसके बाद सेना से 60 किलोग्राम आरडीएक्स चुराने का आरोप लगा और इसमें से कुछ को मालेगांव ब्लास्ट के दौरान प्रयोग किया गया था।
– 29 सितंबर 2008 को हुए मालेगांव ब्लास्ट में छह लोगों की मौत हो गई थी और कई लोग घायल हुए थे। विस्फोट से बंधी एक मोटरसाइकिल में धमाका होने के बाद छह लोगों की मौत हुई थी। 
– गिरफ्तार होते ही सेना की ओर से पुरोहित के खिलाफ कोर्ट ऑफ इन्क्वॉयरी के आदेश दे दिए गए और इसके बाद उन्हें सेना से हटा दिया गया। 
– इसके बाद पुरोहित ने आर्म्ड फोर्सेज ट्रिब्यूनल (एएफटी) में अपील दायर की। उन्होंने मांग की कि इन्क्वॉयरी को खत्म किया जाए क्योंकि ऐसा करके सेना का एक्ट 180 का उल्लंघन किया गया है।
 
सुनें पति की गिरफ्तारी के बाद क्या कहा था अपर्णा पुरोहित ने :
 

Close Bitnami banner
Bitnami