एक साल से कमरे में बंद थी लाश, जब बेटा आया तो हुआ खुलासा

मुंबई के पॉश लोखंडवाला के इमारत से पुलिस ने एक 63 वर्षीय वृद्ध महिला का कंकाल बरामद किया है। महिला घर में अकेली रहती थी खुलासा तब हुआ जब उनका बेटा करीब सवा साल बाद अमेरिका से घर आया। कई बार की कोशिश के बाद भी जब माँ ने दरवाज़ा नहीं खोला तब पुलिस को जानकारी दी गई।  दरवाज़ तोड़कर देखा गया तो बेड पर उनकी माँ की लाश पड़ी थी जो पूरी तरह कंकाल बन चूका था। 

जानकरी के मुताबिक, 63 वर्षीय वृद्ध महिला आशा केदार साहनी पति केदार साहनी की मौत के बाद अकेले रह रहीं थी। बेटा रितुराज साहनी अमेरिका में आईटी इंजिनियर हैं और पिछले कई सालों से अपनी पत्नी के साथ अमेरिका में ही रहते हैं। उनकी आखिरी बार अपमी माँ से आखरी बार अप्रैल 2016 में बात हुई थी। फ़ोन पर उन्होंने बेटे को ये बताया था की वो अकेले पन से परेशान हो चुकीं हैं और जल्द ही किसी वृद्धाश्रम में चली जाएंगी। लेकिन इसके बाद भी बेटे ने उनसे दुबारा संपर्क नहीं किया। मगर जब वो वापस लौटा तो अंदर माँ की लाश मिली। 

अब इस पूरे मामले की तफ्तीश में मुंबई पुलिस जुट गयी है। उन्हें शक है कि, हो सकता है भूख और कमजोरी से उनकी मौत हो गई होगी। लेकिन फिर भी किसी संभावना को दरकिनार किया नहीं जा सकता। चूँकि उसी इमारत बेलस्कॉट टावर में आशा केदार साहनी करीब 5 से 6 करोड़ रुपये दो ‌फ्लैट हैं। हो सकता है की उनकी मौत अक्समात न हो बल्कि कुछ और हो। 

डीसीपी परमजीत सिंह दाहिया के मुताबिक़ संदिग्ध स्थिति में हुई मौत की गुत्थी सुलझाने के लिए तमाम तरीके की जांच की जा रही है। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट व फॉरेंसिक रिपोर्ट, बेटे रितुराज के मोबाइल कॉल्स के विवरण (सीडीआर), सीसीटीवी की जांच जारी है और जल्द ही इस मौत की गुत्थी को पुलिस सुलझा लेगी।

 


Close Bitnami banner
Bitnami