गणपति पंडाल से किसान आत्महत्या का नाटक देख घर लौटा बालक और फिर…..

महाराष्ट्र के सतारा जिले में गणपति पंडाल से किसान आत्महत्या का नाटक देखकर घर लौटने पर उस नाटक को दोहराने से एक युवक की मौत हो गई। सुमित शिंदे 13 मृतक बालक का नाम है। घटना शनिवार सतारा जिले के गोरेगांव वांगी गांव की है।

जानकारी के मुताबिक सतारा के गोरेगांव के वांगी में विराजमान गणपति के पंडाल में सुमित किसान आत्महत्या का नाटक देखने के लिए गया। नाटक में दिखाया गया था की किस तरह कर्ज से परेशान होकर महाराष्ट्र में किसान फांसी लगाकर अपनी जान दे रहे है। नाटक को देखने के बाद जब सुमित घर लौटा तभी उसके घर पर कोई नहीं था। सुमित की माँ खेत में काम करने के लिए गई थी। सुमित ने पहले उसी तरह फांसी का फंदा तैयार किया जिस तरह उसने गणपति के पंडाल के नाटक में देखा। उसके बाद वो उस नाटक को करने की कोशिस की और फांसी लगने से उसकी मौत हो गई।

जब सुमित की माँ घर में आई तो उसके पैरों तले ज़मीन खिसक गई सुमित की माँ ने अपने बच्चे को इस हालत में देख शोर मचाई तब आसपास के लोग वहाँ इक्कठा हुए और उसे अस्पताल ले गए लेकिन डॉक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया।


Close Bitnami banner
Bitnami