गर्भपात की राजधानी बनती जा रही है मुंबई

सरकार लगातार अलग अलग तरीके से देश में गर्भपात रोकने के लिए अभियान चला रही है। ताकि लोग जागरूक हों और गलत तरीके से गर्भपात न कराएं। 

लेकिन आर टी आई से जो जानकारी सामने आयी है, उससे ये लगने लगा है की अब मुंबई आर्थिक राजधानी न होकर गर्भपात की राजधानी बनती जा रही है। ये खुलासा आरटीआई ऐक्टिविस्ट चेतन कोठारी को आर टी आई से मिली जानकरी के बाद सामने आयी है। 

आर टी आई से खुलासा हुआ है कि, मुंबई में गर्भपात का आंकड़ा एक साल में 30,000 के पार पहुंच गया है। बीएमसी के जन स्वास्थ्य विभाग ने आरटीआई में ये जानकारी दी है कि शहर के अलग अलद अस्पतालों में साल 2016-17 में मेडिकल टर्मिनेशन ऑफ प्रेग्नेंसी (एमटीपी) ऐक्ट 1975 के तहत 33,526 गर्भपात किए गए हैं। जिन लोगों के ये गर्भपात किये गए उनमे से 32,156 शादीशुदा औरतें हैं, जबकि 1,336 लड़कियां हैं जिनकी शादी नहीं हुई हैं। यानी मुंबई में अवैध तरीके से धड़ल्ले से तमाम नियम कानून को ताख पर रख कर अवैध गर्भपात किये गए हैं।

Related image

मिली जानकरी के अनुसार, ज़्यादातर गर्भपात का रहा है  ‘फेल्योर ऑफ कॉन्ट्रासेप्टिव डिवाइसेज’ यानी परिवार नियोजन की तकनीकियों का फेल होना। साल भर में जहां 29,700 गर्भपात ‘फेल्योर ऑफ कॉन्ट्रासेप्टिव डिवाइसेज’ के कारण हुआ तो वहीं 1879 गर्भपात मेडिकल रीज़न की वजह से किया गया है। 

आरटीआई ऐक्टिविस्ट चेतन कोठारी के मुताबिक़ ये आंकड़ा सरकार के तमाम दावों पर सवाल खड़ा करती है। सरकार दावा करती है की इसे रोकने के लिए स्वस्थ्य विभाग हर तरीके से काम कर रही और ऐसे में ये आंकड़े काम होने के बजाय और बढ़ता ही जा रहा है। सरकार को इस बारे में गंभीरता से सोचना चाहिए और इसके रोक के लिए कुछ ठोस रणनीति बनानी चाहिए।

जानकारों कि मानें ,अब इस पूरे मामले का ठीकरा कॉन्ट्रासेप्टिव डिवाइसेज’ पर थोपा जा रहा है जबकि ये गलत है। जबकि इन आंकड़ों में 1,336 ऐसे मामले भी हैं जिनमें बिन ब्याही लड़कियों के गर्भपात करने का ज़िक्र है। आखिर इन अस्पतालों ने इनका गर्भपात कराया तो किस परिस्तिथि में किया है ? जबकि कानूनन बिन ब्याही माँ का बिना पूरी जांच के गर्भपात करना कानूनन गलत है। इतना ही नहीं जिन औरतों के गर्भपात कि बात कि जा रही है उनमे से कई मामले ऐसे भी हैं जहाँ बेटा बेटी के चक्कर में कराया गया है। आखिर सरकार ऐसे मामलों पर ध्यान नहीं देती। 


Close Bitnami banner
Bitnami