गर्मी से महाराष्ट्र के बीड में महिला की गई जान

महाराष्ट्र में पारा लगातार चढ़ता जा रहा है, अभी मौसम ठीक से चढ़ा भी नहीं की गर्मी ने अपना विकराल रूप दिखाना शुरू कर दिया है। इसका ही असर है की बीड जिले में बढ़ती गर्मी से एक महिला की मौत हो गई है। बीड जिले के केज तालुका के नांदुरघाट में रूपाबाई पिसले (67) तेज़ गर्मी के चलते उनकी जान चले गई। वही बढ़ती गर्मी से मौत की यह पहली घटना घटी है।

रूपा बाई पिसले बीड बाज़ार में आई हुई थी। दोपहर में बढ़ती गर्मी और हुमस की वजह से उनकी तबियत बिगड़ी और उनकी मौत हो गई।  रात को साढ़े नव बजे लोगों ने उन्हें मृत अवस्था में लाया।

पुलिस को इसकी सूचना मिलते ही लाश का पंचनामा कर लिया है। वोटिंग कार्ड के जरिए लाश की पहचान पुलिस को रूपाबाई पिसले के रूप में हुई उसके बाद पुलिस ने रूपाबाई के रिश्तेदारों को फ़ोन कर इसकी सुचना दी।

Related image

रायगढ़ जिले बढ़ा तापमान

राज्य में दिनों दिन तापमान का पारा चढ़ते जा रहा है। वही गुड़ीपाडवा के दिन रायगढ़ में 46.5 डिग्री सेल्सियस का तापमान दर्ज किया गया है जो विश्व में दूसरा ऐसा जगह था जहाँ तापमान इतना अधिक था। वही न्यूज़ईलैंड के पास  सामोआ में सबसे अधिक 49.6 डिग्री सेल्सियस तापमान दर्ज की गई है।

अगर महाराष्ट्र की बात करे तो रायगढ़ के बाद अकोला जिले में 43 सेल्सियस तापमान नापा गया है जिसे विश्व स्तर अधिक तापमान के मामले के 11 वें स्थान पर रखा गया।

महाराष्ट्र के अन्य जिलों की बात करे तो पुणे , जलगांव, मालेगांव, सोलापुर , नाशिक और सतारा जिलें में 40 डिग्री तापमान था वही मराठवाड़ा और विदर्भ में कई जगह पर तापमान 40 डिग्री नापा गया है।

Image result for Maharashtra Heat Wave

रायगढ़ में 46.5 डिग्री सेल्सियस

अकोला जिले में 43 डिग्री सेल्सियस 

 पुणे , जलगांव, मालेगांव, सोलापुर , नाशिक और सतारा जिलें में 40 डिग्री

विदर्भ में कई जगह पर  तापमान 40 डिग्री नापा गया है

weather

अगर देश के दूसरे हिस्सों की बात करें तो मंगलवार को इंदौर में गर्मी का 11 साल का ओर जयपुर में 10 साल का रिकॉर्ड टूट गया। इंदौर में पारा 40.4 और जयपुर में 41 डिग्री पर जा पहुंचा। शिमला में पारा 25 डिग्री के पार हो गया है। यहां गर्मी का सात साल का रिकॉर्ड टूटा है। राजस्थान के बाड़मेर में गर्मी का 77 साल का, जोधपुर में 33 और जैसलमेर में 58 साल का रिकॉर्ड टूटा था। 

वहीँ जयपुर में पारा 41 डिग्री पर जा पहुंचा। मौसम विशेषज्ञों के मुताबिक़ , पिछले 10 सालों में यह पहला मामला है, जब मार्च में दिन का पारा इतना ऊंचा पहुंचा। रिकॉर्ड के अनुसार,  इससे पहले 2007 और पिछले साल पारे ने मार्च में ही तेज गर्मी का अहसास कराया था, लेकिन 2007 में टेम्परेचर केवल 40 और 2016 में 40.2 डिग्री तक ही बढ़ा।

Image result for Maharashtra Heat Wave


Close Bitnami banner
Bitnami