इन्द्राणी का आरोप लाइट बंद कर की गई पिटाई

शीना बोरा हत्याकांड की आरोपी इन्द्राणी मुखर्जी ने कोर्ट में भायखला जेल के अधिकारियों पर गंभीर आरोप लगाया है। इन्द्राणी ने आज कोर्ट में पेश हुई । कोर्ट में इन्द्राणी मुखर्जी ने जेल अधिकारियों पर आरोप लगाते हुए कहा की जेलर के आदेश के बाद जेल के महिला पुलिस और जेल के अन्य कर्मचारियों ने  रात को लाइट बंद कर के सभी महिला कैदियों की बेहरहमी से पिटाई करते है।

ये भी पढ़ें :

इन्द्राणी मुखर्जी ने दायर की सीबीआई कोर्ट में अर्जी

सीबीआई कोर्ट में इन्द्राणी ने कहा कि वो धमकी दे रहे है अगर नागपाड़ा पुलिस को हमारे खिलाफ बयान दिया तो महिला कैदी मंजुला से भी बुरा हाल तुम्हारा होगा। कोर्ट में जज को इन्द्राणी ने अपने सर, हाथ और पैर पर लगे चोटों को भी दिखाया और कहा कि जेल के अधिकारियों ने किस तरह मंजुला कि पिटाई कि वो मैंने देखा वहा पर मौजूद अन्य महिला कैदियों ने देखा कितनी बेहरहमी से मंजुला कि पिटाई करने के बाद उसके प्राइवेट पार्ट में लाठी डाली गयी। वो इसलिए मुझे मार पिट रहे है कि मंजुला केस में सीआरपीसी की धारा 164 के तहत गवाह नहीं बनु।

इस मामले में कोर्ट ने पुलिस से कहा कि उसे मेडिकल के लिए अस्पताल ले जाए और बाद में शिकायत के लिए नागपाड़ा पुलिस स्टेशन लेकर जाए।

दरअसल कल सीबीआई कोर्ट में इन्द्राणी मुखर्जी ने एक अर्जी दायर की थी अर्जी में उसने कहा की महिला कैदी की पिटाई से हुई मौत के बाद वो नागपाड़ा पुलिस के सामने बयान देने के बाद जेल में उसे मारापीटा और प्रताड़ित किया गया।अर्जी में सीबीआई कोर्ट से अपील की थी जल्द से जल्द वारंट जारी कर उसे कोर्ट में पेश किया जाए ताकि जज अपने लगे चोटों को दिखा सके।  


Close Bitnami banner
Bitnami