जब झाड़ पर उगने लगे नोट, बेकाबू होने लगी भीड़

आम तौर पर आपने अक्सर लोगों को ये कहते हुए सुना होगा कि ‘रुपए पेड़ पर नहीं लगते हैं’। लेकिन कल महाराष्ट्र के औरंगाबाद में इस कहावत के ठीक उल्टा हुआ। जब पूरे शहर में ये बात फ़ैल गयी कि शहर के  सिडको एन-2 सेक्टर के पेड़ों पर नोट लगे हैं। देखते ही देखते पूरा शहर वहां इकठ्ठा होने लगा 

भीड़ इतनी होने लगी कि उन्हें संभालने के लिए पुलिस बुलानी पड़ी। जब पुलिस मौके पर पहुंची तब जाकर मामला समझ आया।

 

दरअसल औरंगाबाद के सिडको एन-2 सेक्टर में एक खाली प्लॉट पर लोगों की नज़र पड़ी तो चारों तरफ झाड़ और पेड़ों पर नोट चिपके पड़े थे। ये सारे नोट पुराने 500 और 1000 के थे। ऐसा लग रहा था किसी ने इन पुराने बंद पड़े नोटों को यहाँ लाकर फेंका था। रूपये पेपर में लपेटकर लाकर वहां फेंका था। 
खबर मिलते ही पुलिस भी मौके पर पहुँच गयी और वहां एक पेड़ के नीचे से करीब 10.50 लाख रुपये के पुराने नोट बरामद किये है। 

पुलिस के अनुसार, ये सारे नोट खली पड़े प्लाट में बबूल के एक पेड़ के बीच फंसे हुए थे। जिसकी वजह से उड़ कर कई नोट पेड़ के ऊपर जा फंसे थे। इन्हें कागज में लपेट कर फेंका गया था। पुलिस को 1000 के पुराने नोटों के पांच और पांच सौ के पुराने नोटों के 12 बंडल बरामद हुए हैं। फ़िलहाल पुलिस ने सभी नोटों को ज़ब्त कर अपने साथ थाने ले गई है। हल्की बारिश कि वजह से कई नोट भीग कर खराब भी हो गए थे। पुलिस को शक है कि किसी ने कार्यवाही के डर से इस तरह बंद हो चुके नोटों को लेकर यहाँ फेंका है।

गौरतलब है कि  केंद्र सरकार ने 8 नवंबर 2016 को 500 और 1000 के नोट बंद करने की घोषणा की थी। बंद किए गए नोट में बदलने के लिए रिजर्व बैंक ने 31 मार्च 2017 तक का समय दिया था। इसके बाद पुराने 500 और 1000 के नोट कागज के टुकड़े बन गए थे।       


Close Bitnami banner
Bitnami