ख़ुद बिल्डर ने तैयार की थी मजदुरों के लिए मौत की भट्टी

मुंबई​ के विले पार्ले इलाके में एक 13 मंजिला अंडर कंस्ट्रक्शन बिल्डिंग में देर रात आग लग गई। इस हादसे में एक बच्चे समेत 6 की मौत हो गई। वहीं, 11 लोग जख्मी हो गए। पुलिस के मुताबिक, आग गैस सिलेंडर में विस्फोट होने की वजह से आग लगी। डॉक्टरों के मुताबिक, सभी जख्मी बुरी तरह झुलस गए हैं, इनमें से 8 की हालत गंभीर है। हादसा देर रात करीब 11 बजे हुआ। वही इस मामले में पुलिस ने बिल्डर के खिलाफ लापरवाही बरतने का मामला दर्ज कर लिया है।​

मुंबई पुलिस के स्पोक्सपर्सन रश्मि करांदीकर ने बताया कि, आग विले पार्ले इलाके में किशोर कुमार गार्डन के पास प्रार्थना इमारत में लगी थी। दो से तीन घंटे में आग पर काबू पाल लिया था। फिलहाल मरने वालों की पहचान नहीं हो सकी है, क्योंकि वे बुरी तरह से झुलस गए हैं। मरने वाले सभी मजदूर बताए जा रहे हैं।

कैसे हुआ हादसा?

पुलिस के मुताबिक, आग ग्राउंड फ्लोर पर लगी, जहां स्क्रैप मटेरियल जमा कर रखा गया था। मजदूरों के अस्थाई घर भी इसी के बगल में थे।
पुलिस जिंदा बचे लोगों के बयान रिकॉर्ड कर हादसे की असली वजहों का पता लगाने में जुटी है।

बढ़ सकती है मरने वालों की तादाद?

पुलिस के मुताबिक, हादसे में 11 लोग जख्मी हुए हैं, इनमें नौ पुरुष और दो महिलाएं शामिल हैं। सभी को बीएमसी के कूपर अस्पताल में एडमिट कराया गया है। इनमें से आठ की हालत गंभीर है। इसलिए मरने वालों का आंकड़ा बढ़ भी सकता है। ये सभी लोग वेस्ट बंगाल से मुंबई काम करने आए थे।

आइविटनेस ने बताया- धमाके के बाद आग लग गई

घटनास्थल पर मौजूद एक शख्स ने बताया कि आग लगने से पहले यहां एक सिलेंडर फटने का जोरदार धमाका सुना गया। धमाके के तुरंत बाद बिल्डिंग में आग फैल गई। लोगों ने इसकी जानकारी पुलिस और फायर बिग्रेड को दी। एक शख्स ने बताया- “पहले तेज धमाके की आवाज सुनी। ऐसा लगा मानों को सिलिंडर ब्लास्ट हुआ हो। इसके बाद उन्होंने बिल्डिंग से आग की लपटों को निकलते हुए देखा।”


Close Bitnami banner
Bitnami