ख़ुफ़िया एजेंसियों ने महाराष्ट्र पुलिस को चेताया, गौ रक्षा के नाम पर प्रदेश में हिंसा का है प्लान

खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सख्त लहज़े में गौ रक्षा के नाम पर निरीह लोगों की हत्या करने वालों चेतावनी दे चुके है। वो गाय के नाम पर कानून को अपने हाथ में न लें। लेकिन इसके बावजूद हत्याओं का ये सिलसिला रुकने का नाम नहीं ले रहा है। लेकिन महाराष्ट्र पुलिस को अब जो ख़ुफ़िया एजेंसियों से इनपुट मिली है उसके बाद वो पूरी तरह से हरकत में आ गई है। डी जी दफ्तर ने अब प्रदेश भर के पुलिस अधिकारियों और थानों को चेतावनी जारी की है। कहा है गौरक्षा के नाम पर उत्पात मचाने वालों के खिलाफ सख्ती से कार्रवाही हो।

अगर सूत्रों की मानें तो, ख़ुफ़िया एजेंसियों ने महाराष्ट्र पुलिस को चेताया है की आने वाले समय में प्रदेश में हिंसा हो सकती है। ये हिंसा गौ रक्षा के नाम पर की जा सकती है और इसकी पूरी तैयारी भी की जा चुकी है। कुछ लोग आने वाले दिनों में त्यौहार की आड़ में अपनी हरकतों को अंजाम देने के फ़िराक में है। इस इनपुट के बाद महाराष्ट्र पुलिस हरकत में आ गई है। वो किसी भी कीमत पर प्रदेश में भीड़ के हाथों कोई हिंसा नहीं चाहती है। डीजीपी ऑफिस ने ऐसी किसी भी अनहोनी को रोकने के लिए तमाम पुलिस स्टेशनों को सर्कुलर जारी किया है। सभी अधिकारियों को सख्त हिदायत दी है की वो ध्यान रखे कि बीफ या जानवर मिलने के नाम पर कथित गौरक्षक किसी भी तरह की छापेमारी न कर पाए।

ये सर्कुलर प्रदेश के तमाम शहरों के इलावा मुंबई के करीब 94 स्टेशनों को भेजा गया है। सर्कुलर में सख्ती से कहा गया है कि थानों की पुलिस के अलावा  आला अफसर भी इसका पूरा ध्यान रखें कि बीफ बैन को लेकर कानून का गलत इस्तेमाल न हो। इसके साथ ही महाराष्ट्र सरकार और गृह विभाग ने इस मुद्दे पर लोगों को हिदायत दी है कि बीफ की खबर मिलने पर उनसे उम्मीद की जाती है कि वे इसकी जानाकारी पुलिस को दे न कि कानून को अपने हाथ में ले।


Close Bitnami banner
Bitnami