कोल्हापुर में जंगली भैंसे का क़हर, पत्रकार की मौत

महाराष्ट्र के कोल्हापुर में जंगली भैंसे के आतंक की चपेट में आकर एक पत्रकार की मौत हो गयी। पत्रकार भैंसे के तांडव को कवर करने पहुंचा था, तभी भैंसे ने वहां जमा भीड़ पर हमला कर दिया। जिसमे पत्रकार भैंसे के ठीक सामने आ गया और भैंसे से सीधे पत्रकार को हवा में उछाल कर ज़मीन पर पटक दिया। इस हमले में पत्रकार और एक किसान की मौत हो गयी है। लेकिन वन विभाग की लाख कोशिश के बाद भी खुनी भैंसा उनकी पकड़ से दूर है।

journalist

ग्रामीणों के मुताबिक़, इलाके में पिछले कई दिनों से जंगली भैंसे का आतंक छाया हुआ है। वो लगातार गांव वालों और जानवरों पर हमला कर रहा है। भैंसा इस क़दर बेकाबू है की वो पूरी फसलों को नष्ट कर देता है। ग्रामीणों की शिकायत के बाद भी वन विभाग भैंसे पर काबू करने तो नहीं पहुंचा तो कुछ पत्रकार जंगली भैंसे के तांडव को कवर करने पहुंचे थे। इनमे से ही एक पत्रकार रघुनाथ शिंदे नाम  सुबह कोल्हापुर के आक्रुड़े इलाके में पहुंचे थे। उनके साथ कई किसान और गांववाले भी थे। जब वो गांव में पहुंचे ही थे की भैंसे का आतंक जारी था,  रघुनाथ भैंसे के आतंक का वीडियो अपने कैमरे में कैद कर रहे थे। तभी वह उनकी तरफ दौड़ा और हमला कर दिया। 

courage

भैंसे के इस हमले में पत्रकार रघुनाथ शिंदे और एक किसान अनिल पवार भी चपेट में आ गए। भैंसे ने रघुनाथ की छाती में अपनी सिंघों से हमला किया था। जिसके बाद उन्हें पास के हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था। जहां इलाज एक दौरान दोनों ने दम तोड़ दिया।

प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि, भैंसे का हमला इतना तेज़ थे कि पत्रकार रघुनाथ ज़मीन से 10 से 12 फीट तक उछल गए थे। जिसे उन्हें काफी गंभीर चोट आई थी। मामले की जानकारी मिलने के बाद वन विभाग और पुलिस की टीम मौके पर पहुंच कर जंगली भैंसे को पकड़ने के लिए प्रयास कर है।


Close Bitnami banner
Bitnami