लड़की का हाँथ पकड़ना पड़ा महंगा, अदालत ने सुनाई ये सज़ा

अगर आप भी आशिक़ मिजाज़ हैं और सड़क पर अपने प्यार का इज़हार बीच सड़क पर करने का सोंच रहे हैं तो ये खबर आपसे जुडी है। ये सबक़ हैं उन सभी सड़कछाप मजनुओं की जो आते जाते लड़कियों से छेड़खानी करते हैं और फबत्तियाँ कस्ते हैं। मुंबई के दिंडोशी कोर्ट ने ऐसे ही एक आशिक़ को एक साल जेल की सज़ा सुनाई है। आरोप है कि, साल 2015 में एक शख्स ने भरे बाजार एक नाबालिग लड़की का हाथ पकड़ा और उसे ‘आई लव यू’ कहा था। जिसके बाद ये मामला थाने पहुंचा फिर थाने से अदालत। जिसके बाद पास्को कोर्ट ने इस मामले को महिला के सम्मान का हनन मानते हुए आरोपी को एक साल की सजा सुनाई है।

दरअसल ये पूरा मामला साल  6 अक्तूबर, 2015 का है, जब 16 साल कि एक स्कूली छात्रा दोस्तों के साथ घर लौट रही थी तभी आरोपी ने बीच सड़क में उसका रास्ता रोका और उसके साथ दुर्व्यवहार करते हुए अचानक उसका हाथ पकड़ा ‘आई लव यू’ कहा था। जिससे वो काफी डर गयी थी और रोते हुए घर आई और अपनी मां को पूरी बात बताई। आरोपी कोई और नहीं बल्कि उसका ही पडोसी था। जिसके बाद पीड़ित अपनी मां के साथ आरोपी के घर पहुंची, लेकिन बजाय कुछ करने के आरोपी की मां ने उसे ही धमकियां दी। पीड़ित इस क़दर डर गयी थी कई दिनों तक वो स्कूल नहीं गई। तब जाकर पीड़ित की मां ने 8 अक्टूबर, 2015 को आरोपी के खिलाफ केस दर्ज करवाया था।

हालांकि अदालत ने आरोपी को सबूतों की कमी के आधार पर आरोपी को जबरदस्ती करने के आरोप से बरी किया है।आरोपी पहले ही 29 अक्टूबर 2015 से 19 अक्टूबर 2016 तक जेल की सजा काट चुका है। इसके बाद से वह जमानत पर बाहर था।


Close Bitnami banner
Bitnami