लोकल ट्रेन में महिला ने बच्ची को दिया जन्म

मुंबई में मुश्किल में फंसे लोगों की मदद करने के लिए कोई ना कोई फरिश्ता बनकर आ ही जाता है। ऐसा ही कुछ हुआ आज मुंबई के घाटकोपर रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर तीन पर गुड़िया अबरार शेख (28) के साथ। लोकल ट्रेन से सफर कर रही गुड़िया गर्भवती थी।  तभी अचानक बीच रास्ते में गुड़िया को प्रसाव पीड़ा शुरू हो गई। वो जिस डब्बे में थी वहां कोई महिला तक नहीं थी। पास के डब्बे में सफर कर रहे लोग भाग कर कराह रही महिला की मदद के लिए आगे आये। किसी ने घेरा बनाया तो कुछ लोग डॉक्टर और नर्से की तलाश में लग गए। उनकी मेहनत रंग लाई और उसी ट्रैन से सफर कर रही नर्स ने घाटकोपर स्टेशन पर उसकी डिलीवरी कराई गई। 

गुड़िया टिटवाला के बानेगांव की रहने वाली है। वो अपने पति के साथ कुर्ला में रिश्तेदार के यहां आई थी। उसे हल्का हल्का दर्द महसूस हो रहा था। इसी लिए वो फ़ौरन अपने डॉक्टर के पास कल्याण के एक अस्पताल जा रही थी। उसने कुर्ला से कर्जत के लिए फास्ट ट्रेन पकड़ी थी। लेकिन बीच रास्ते में ही अचानक प्रसाव पीड़ा शुरू हो गया। उसी ट्रेन में एक महिला होम गार्ड ने चैन पुल्लिंग कर ट्रेन रुकाई। उस वक़्त ट्रेन में मौजूद एक नर्स गुड़िया के लिए फरिश्ता बनकर आई और महिला की डिलीवरी करवाई। 

घाटकोपर आरपीएफ के पीएसआई बृजेश कुमार बृंदवार ने बताया कि, आज दोपहर डेढ़ बजे एक महिला का प्रसाव पीड़ा शुरू हो गया था। जिसके बाद उसने  ट्रेन में लड़की को जन्म दिया है। जिसकी डिलीवरी ट्रेन में मौजूद एक नर्स ने कराई है। उसके बाद महिला पुलिस की मदद से महिला को पास के प्राइवेट अस्पताल में भर्ती कराया गया। फिलहाल जच्चा बच्चा दोनों भी सुरक्षित है। 


Close Bitnami banner
Bitnami