मलबे से लगातार निकल रही हैं लाशें इस हाल में मिली 3 महीने की मासूम,राहत और बचाव कार्य जारी

शहर के घाटकोपर इलाके में मंगलवार सुबह 4 मंजिला एक बिल्डिंग गिर गई। इसमें 5 लोगों की मौत की आधिकारिक पुष्टि हो गई है। मलबे में अभी भी 15-20 लोगों के फंसे होने की आशंका है। स्थानीय लोगों का कहना है कि करीब 35 साल पुरानी साईंदर्शन अपार्टमेंट नाम की यह बिल्डिंग काफी जर्जर हो चुकी थी। शहर में लगातार हो रही बारिश से वह गिर गई। मलबे से शवों के बाहर निकलने का सिलसिला जारी है। तीन महीने की बच्ची की हुई मौत​…..

इमारत के मलबे में कई लोग दबे थे। कइयों को शवों को बाहर निकाला गया। लेकिन घटनास्थल पर मौजूद लोगों को सबसे ज्यादा झकझोरा एक तीन महीने की बच्ची की बॉडी ने। वी रेणुका नाम की बच्ची की बॉडी दीवार के दो टुकड़ों के बीच फंसी हुई थी। दीवार को मशीन से काट कर जब उसे बाहर निकला गया तो वहां मौजूद ज्यादातर लोगों की आंखों में पानी भर आया।पुलिस के मुताबिक, रेणुका को कोई चोट नहीं लगी थी लेकिन दम घुटने की वजह से उसकी मौत हो गई। उसकी बॉडी को कब्जे में लेकर मुंबई के राजवाड़ी हॉस्पिटल में भेज दिया है।

सुबह 10:45 पर हुआ हादसा…
डिप्टी सीएफओ आर जाधव ने बताया- “उनके पास सुबह 10 बजकर 45 मिनट पर बिल्डिंग गिरने की जानकारी आई है। 20 से ज्यादा फायर फाइटर्स मौके के लिए रवाना किए गए। बीएमसी की डिजास्टर मैनजेमेंट की टीम भी मौके पर पहुंचकर राहत और बचाव के काम में जुट गई है। अभी तक 10 जख्मी लोगों को बाहर निकाला गया है।”पुलिस के मुताबिक, सभी 10 जख्मी लोगों का इलाज राजावाडी और शांति निकेतन हॉस्पिटल में चल रहा है।बताया जा रहा है कि इस बिल्डिंग में करीब 15 परिवार रहते थे। मारे गए लोगों में ज्यादातर बुजुर्ग और महिलाएं हैं।मुंबई के मेयर विश्वनाथ पांडुरंग महादेश्वर ने हादसे की जांच के आदेश दे दिए हैं।
 
 
कुछ दिन पहले ही तोड़ा था पिलर
स्थानीय लोगों के मुताबिक बिल्डिंग के ग्राउंड फ्लोर पर बने नर्सिंग होम में एक पिलर को कुछ दिन पहले तोड़ा गया था। इसे लेकर सोमवार रात को ही सोसायटी की मीटिंग हुई थी। इसके बाद लोगों से बिल्डिंग खाली करने के लिए कहा गया था, लेकिन लोगों ने बिल्डिंग खाली नहीं की। लोगों का कहना है कि सोमवार सुबह एक झटका लगा, इसके बाद कुछ लोग बिल्डिंग से बाहर आ गए। कुछ देर बाद ही दूसरा झटका लगा और पूरी बिल्डिंग गिर गई।
 
हादसे के बाद जाम लगा
इस दुर्घटना के बाद घाटकोपर के एलबीएस रोड के आसपास के इलाके में जाम लग गया है, जिससे रेस्क्यू में दिक्कत आ रही है। साईंदर्शन बिल्डिंग के ग्राउंड फ्लोर पर एक छोटा नर्सिंग होम भी था। हादसे के वक्त वह बंद था। – बिल्डिंग के मलबे में फंसे लोगों को निकालने के लिए सर्च कैमरों का इस्तेमाल किया जा रहा है।

Close Bitnami banner
Bitnami