संपत्ति के खातिर बेटे ने अपनी मां, पिता और बहन को मौत के घाट उतारा

रुपयों और संपत्ति के खातिर पुणे में एक बेटे ने अपने दोस्त के साथ मिलकर पहले तो घर के तमाम सदस्यों को मौत के घाट उतार और फिर उनकी लाशें खेत में गाड़ दिया था। घटना पुणे के खेड़ तहसील की है।

पुलिस के मुताबिक, खेड़ तहसील स्थित कुरकुंडी गांव में रहने वाला गोगावले परिवार अचानक लापता हो गया था। गायब होने वालों में घर के मुखिया रोहिदास बालू गोगावले उनकी पत्नी मंदा रोहिदास गोगावले और बारह साल की बेटी अंकिता रोहिदास गोगावले शामिल थे। जिसके बाद खुद बेटे ने ही अपने पिता माँ और बहन के लापता होने की शिकायतदर्ज कराई  थी। शिकायत के बाद जब पुलिस ने तफ्तीश शुरू की तो बेटा जांच के जद में आ गया। जब पुलिस ने बेटे से पूछताछ शुरू की उसने फ़ौरन अपना जुर्म कुबूल लिया

पूछताछ में सामने आया की  मंदा रोहिदास की दूसरी पत्नी थीं। रोहिदास को पहले से ही एक बेटा है। उसकी भी शादी हो चुकी थी। लेकिन पिता रोहिदास उसकी पत्नी यानी घर की बहु के सामने ही बेटे के साथ मारपीट और गाली गलौज करता था। वो कई दिनों से अपने पिता से नए कारोबार के लिए कुछ पैसे मांग रहा था, लेकिन रोहिदास इसके लिए राज़ी नहीं था। जिसकी वजह से बाप बेटे में अक्सर विवाद होता रहता था।

इसी बात से नाराज़ बेटे ने अपने पूरे परिवार को ख़त्म करने की प्लैनिंग कर ली थी । उसे लगने लगा था की पिता रोहिदास अपनी पूरी संपत्ति अपनी दूसरी पत्नी और बेटी को दे देंगे। बेटे ने अपने दोस्त को इस प्लैनिंग में शामिल किया और फिर पिता, माँ और बहन का क़त्ल कर लाश को घर को पास के खेत में दफन कर दिया।


Close Bitnami banner
Bitnami